निर्वस्त्र महिला 3 KM तक चलती रही पैदल, लोग बनाते रहे वीडियो

0
6

राजस्थान में थानागाजी गैंगरेप कांड के बाद अब चुरू ज‍िले में पुल‍िस की भयानक लापरवाही सामने आई है. यहां ससुराल में परेशान एक मह‍िला न‍िर्वस्त्र हालत में ही थाने चल पड़ी ज‍िसका कुछ लोगों ने वीड‍ियो भी बनाया. ये सनसनीखेज घटना रव‍िवार को चुरु के बीदासर थाने के इलाके में घटी.अलवर के थानागाजी गैंग रेप कांड के बाद अब चूरू जिले के बीदासर में पुलिस की लापरवाही के कारण शर्मनाक घटना सामने आई है. यहां ससुराल पक्ष के लोगों की प्रताड़ना से परेशान एक महिला निर्वस्त्र हालत में थाने के लिए चल पड़ी. वह 45 मिनट तक भीड़भाड़ वाले राज्य मार्ग नंबर 20 पर इसी हाल में चलती रही.विवाहिता का आरोप है कि ससुराल पक्ष के लोगों ने उससे मारपीट कर उसके कपड़े फाड़ डाले. इस कारण वह इसी हालत में थाने की तरफ चल पड़ी. इस मामले ने पुल‍िस ने बताया कि पीड़िता के पर्चा बयान पर मामला दर्ज कर लिया है. महिला का राजकीय सीएचसी में मेडिकल करवाकर परिजनों के नहीं पहुंचने तक नारी निकेतन भिजवाने की कार्यवाही कर रहे हैं. यह घटना रव‍िवार सुबह करीब 8:30 बजे की है.विवाहिता के अनुसार, वह महाराष्ट्र के अकोला की रहने वाली है. एक साल पहले बीदासर में उसका विवाह हुआ था. पति छह माह से आसाम मजदूरी करने गए तो उसके बाद ससुराल में सास, जेठानी, जेठ, देवर उसे परेशान करते हैं. पति के भेजे गए रुपयों को भी छीन लेते हैं और मारपीट करते हैं.रविवार सुबह करीब 8 बजे भी ससुराल वालों ने झगड़ा किया और मारपीट की. इस बीच जेठानी ने उसके कपड़े फाड़ दिए. फिर मैं घर से बिना कपड़े के ही थाने के लिए चल पड़ी. वह भीड़भाड़ वाले राज्य सड़क मार्ग संख्या 20 पर श्रीडूंगरगढ़ तिराहे से नया व पुराना बस स्टैंड होते हुए 3 क‍िलोमीटर दूर थाने पहुंची. इस बीच, महिला की जेठानी ने उसे कपड़े पहनाने चाहे, लेकिन महिला नहीं मानी. (प्रतीकात्मक फोटो)थाने से 100 से 150 मीटर दूर स्थित सालासर मंदिर के पास थानाधिकारी व कांस्टेबल ने महिला को देखा. उसके साथ चल रही जेठानी ने पुलिसकर्मियों  को बेडशीट दी. इसके बाद बेडशीट उसके शरीर पर लपेटी गई और थाने लाया गयारास्ते में निर्वस्त्र महिला का वार्ड नंबर 6 में रहने वाले उमाशंकर ने वीडियो बना लिया था. पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया. यह पता लगाया जा रहा है कि कहीं वीडियो वायरल तो नहीं कर दिया गया.बीदासर पुलिस थाने में महिला कांस्टेबल के 3 पद हैं, लेकिन महिला निर्वस्त्र होकर वहां पहुंची तो एक भी महिला पुलिसकर्मी थाने में नहीं थी. पता चला है कि एक कांस्टेबल मातृत्व अवकाश पर है, दूसरी भी अवकाश पर है, जबकि तीसरी अनुपस्थित थीं. घटना के बाद सांडवा व छापर से महिला कांस्टेबल को बुलाया गया.महिला के देवर और जेठानी का दावा है कि वे पहले ही थाने पहुंचकर पुलिस को घटना की जानकारी दे चुके थे और  राहगीरों ने भी सूचना दी, लेकिन पुलिस अनसुना करती रही. आख‍िर बीकानेर आईजी के दखल और थाने के करीब पहुंची महिला को देखकर पुलिस हरकत में आई और उसके शरीर पर चादर लपेटी गई. पुलिस ने ससुराल के चार सदस्यों को ग‍िरफ्तार कर ल‍िया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here