15 साल बाद प्रदेश वासियों को मिला निराशा भरा बजट-श्री परिहार ।

0
22

गरीबो के लिए न कोई नई योजना का एलान, पुरानी भी की बन्द ।

नीमच । आज मप्र के वित्तमंत्री तरुण भानेट द्वारा विधानसभा में 15 साल बाद आई कांग्रेस सरकार का पहला पूर्ण बजट पेश किया । जिसने प्रदेशवासियों को पूर्णरूप से निराश किया । प्रदेश सरकार द्वारा बजट में गरीबो के कल्याण के लिए न कोई नई योजना का एलान किया गया,अपितु पुरानी योजनाएं जो पूर्व की मप्र सरकार द्वारा चलाई गई थी उन्हें भी बन्द कर दिया गया ।
उक्त बातें नीमच के क्षेत्रीय विधायक दिलीप सिंह परिहार द्वारा कमलनाथ सरकार के पहले बजट पेश किए जाने के बाद कही।
*किसानों के लिए पूर्ण निराशाजनक बजट-*
प्रदेश सरकार द्वारा अपने चुनावी घोषणा पत्र में किसानों के लिए किए गए 2 लाख रुपये तक के ऋण माफी वादे को पूरा नही किया गया। वही किसानों का सम्पूर्ण मप्र के 48 हजार करोड़ ऋण माफी के लिए चाहिए लेकिन सरकार ने केवल 08 हजार का अल्प ऋण माफी का बजटीय प्रावधान रखा गया, जो नाकाफी होने के साथ साथ किसानों के साथ छलावा मात्र है ।

*नीमच जिले को नही दी कोई नई सौगात, किया गया सौतेला व्यवहार-*
नीमच जिले की तीनों सीट बीजेपी के जितने के बाद कमलनाथ सरकार द्वारा बजट में जिले को कोई नई सौगात न देना जिलेवासियों के साथ सौतेला व्यवहार के समान है। जिसे जिले का हर नागरिक अपने को ठगा सा महसूस कर रहा है ।
*दीनदयाल रसोई योजना बन्द करना, गरीबो के पेट पर लात के समान-*
मप्र की पूर्व शिवराज सरकार द्वारा गरीबों को 5 रुपये में भरपेट भोजन प्रत्येक जिलास्तर पर मिल सके इसके लिए दीनदयाल रसोई योजना शुरू की थी । जिसमे हजारों लोग 5 रुपये में भरपेट भोजन कर लिया करता था। लेकिन वर्तमान कांग्रेस सरकार को गरीबों का भरपेट भोजन करना नागवार लगा और इस योजना को भी बन्द करने का एलान कर दिया जो गरीबो के पेट पर सीधे लात मारने जैसा है। इसके साथ ही विद्यार्थियों महिलाओं व हर आमजन को इस बजट में निराशा हुई है ।

*संबल योजना को डाला ठंडे बस्ते में-*

मध्य प्रदेश की पूर्व सरकार द्वारा गरीबों का जीवन स्तर ऊंचा उठाने के लिए संबल जैसी लोक कल्याणकारी योजना को प्रारम्भ किया था । जिससे निचले स्तर तक हर गरीब व्यक्ति लाभान्वित हो रहा था। जिसे भी वर्तमान बजटीय प्रावधान में जगह ना देकर ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है । जो गरीबों के साथ अन्याय है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here