अफीम तस्करी के एक आरोपी को 20 वर्ष तथा दुसरे को 10 वर्ष का सश्रम कारावास ।

0
140

जावद। श्री नीतिराज सिंह सिसौदिया, विशेष न्यायाधीश, (एन.डी.पी.एस. एक्ट, 1985) जावद के द्वारा दों आरोपीयों को 13 किलोग्राम अफीम की तस्करी करने के आरोप का दोषी पाकर एक आरोपी को कुल 20 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 2,00,000रू. जुर्माना व दुसरे आरोपी को 10 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1,00,000रू. जुर्माना से दण्डित किया।

जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री आर. आर. चौधरी द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 08.01.2014 को पुलिस सिंगौली को मुखबिर द्वारा एक सूचना प्राप्त हुई कि शाम 5 बजे एक व्यक्ति मोटरसाइकल से अफिम लेकर रावतभाटा में किसी तस्कर को देने जाने वाला है। मुखबीर सूचना के आधार पर सिंगौली पुलिस द्वारा मुखबीर द्वारा बताये स्थान कास्या घाट पुलिया के पास पहुचकर नाकाबंदी करीं तब उनकों एक मोटरसाइकल पर दोनों आरोपीगण गिरधारीलाल व रामेश्वरम आते दिखाई दिये। इन दोनों की तलाशी लिये जाने पर रामेश्वर के पास रखे खाद के थैले मे दो प्लास्टिक की थैलीयां थी, जिसमें कुल 13 किलों अफिम थी, जिसकों जप्त कर, दोनों के विरूद्ध अपराध क्रमांक 06/2014, धारा 8/18, 25 एन.डी.पी.एस. एक्ट 1985 के अंतर्गत पंजीबद्व कर विवेचना उपरांत चालान न्यायालय में प्रस्तुत किया गया।

श्री अरविंद शर्मा, अपर लोक अभियोजक द्वारा न्यायालय में जप्तीकर्ता अधिकारी, फोर्स के सदस्यो, पंचसाक्षी सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान कराकर अफीम की तस्करी ले जाने के अपराध को प्रमाणित कराकर, आरोपीगण को उदाहरण स्वरूप कठोर दंड से दण्डित किये जाने का निवेदन किया गया। श्री नीतिराज सिंह सिसौदिया, विशेष न्यायाधीश, (एन.डी.पी.एस. एक्ट, 1985) जावद द्वारा आरोपीगण (1) गिरधारीलाल पिता नंदलाल धाकड़, उम्र-59 वर्ष, निवासी ग्राम मेघपुरा, जिला चित्तोड़गढ़ (राजस्थान) को धारा 8/18(बी) व धारा 25 एन.डी.पी.एस. एक्ट 1985 के अंतर्गत 10-10 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1,00,000-1,00,000रू. जुर्माने इस प्रकार कुल 20 वर्ष के सश्रम कारावास व 2,00,000रू. जुर्माने से तथा आरोपी (2) रामेश्वर उर्फ रमेश पिता हजारीलाल धाकड़, उम्र-50 वर्ष, निवासी ग्राम तेजपुर, थाना परसोली (राजस्थान) को धारा 8/18(बी) एन.डी.पी.एस. एक्ट 1985 के अंतर्गत 10 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1,00,000रू. जुर्माने के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया। न्यायालय में शासन की ओर स पैरवी श्री अरविंद शर्मा, अपर लोक अभियोजक द्वारा की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here