अवैध पिस्टल धारक को 18 माह का कठोर कारावास ।

0
141

नीमच। श्री मनीष कुमार पारीक, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा एक आरोपी को बिना लाईसेंसी देसी पिस्टल को अपने कब्जे में रखने के आरोप का दोषी पाकर 18 माह के कठोर कारावास एवं 1,000रू. जुर्माने से दण्डित किया।

अभियोजन मीडिया सेल प्रभारी एडीपीओं रितेश कुमार सोमपुरा द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 30.04.2017 को रात्री 9 बजे पुलिस जीरन को मुखबीर सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम फोफलिया के बस स्टैण्ड एक व्यक्ति अवैध पिस्टल लेकर खडा हैं, जिसकी तस्दीग हेतू पुलिस फोर्स के साथ मुखबीर द्वारा बताये गये स्थान पर पॅहुची, जहाँ पर मुखबीर के बताये हुलीये वाला व्यक्ति दिखाई दिया। पुलिस द्वारा घेराबंदी कर उसको पकडा और उसकी तलाशी लेने पर उसके दाये पेंट की जेब से एक देसी पिस्टल और एक जिंदा कारतूस मिला, जिसका लाईसेंस उसके पास नहीं था। आरोपी के विरूद्ध थाना जीरन में अपराध क्रमांक 116/2017, धारा 25(1-ख)(क) आर्म्स एक्ट के अंतर्गत पंजीबद्ध किया गया। पुलिस जीरन द्वारा अभियोजन स्वीकृति प्राप्त कर शेष विवेचना उपरांत चालान न्यायालय में प्रस्तुत किया गया।

श्रीमती कीर्ति चाफेकर, ए.डी.पी.ओ. द्वारा अभियोजन पक्ष की ओर से न्यायालय में पुलिस फोर्स के सदस्यां, पंच साक्षीयों सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान कराकर अपराध प्रमाणित कराया गया तथा दण्ड के प्रश्न पर तर्क दिया कि आरोपी गंभीर अपराध करने के उदद्ैश्य से पिस्टल लिये हुए खडा था, इसलिए आरोपी को कठोर दण्ड से दण्डित किया जाये। श्री मनीष कुमार पारीक, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा आरोपी देवीलाल पिता घारूजी मीणा, उम्र-29, निवासी-ग्राम फोफलिया, तहसील-जीरन, जिला नीमच को धारा 25(1-ख)(क) आर्म्स एक्ट (अवैध रूप से पिस्टल अपने कब्जे में रखना) में कुल 18 माह के कारावास व 1,000रू. जुर्माने से दण्डित किया। न्यायालय में शासन की ओर से पैरवी श्रीमति कीर्ति चाफेकर, एडीपीओ द्वारा की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here