अवैध रूप से महेश कॉलोनी काटने वाले पाँच भूमाफियाओं के खिलाफ एफआईआर

0
294

भूमाफियाओं में मचा हड़कंप,पुलिस जल्द करेगी आरोपियों को गिरफ्तार

मनासा।नगर में कृषि भूमि पर अवैध रूप से कालोनी काटने की शिकायत पर पुलिस द्वारा पांच कालोनाइजरों पर प्रकरण दर्ज किया गया। कलेक्टर के सख्त निर्देश पर पुलिस ने निकाय से जानकारी लेने के उपरांत नगर पालिका अधिनियम के तहत सम्बन्धितों पर गैरजमानती प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही प्रारम्भ कर दी है। कायमी दर्ज होने के बाद अवैध कॉलोनी निर्माणकर्ताओं को गिरफ़्तार किया जाएगा।पुलिस के द्वारा की गई कार्यवाही के बाद नगर में अवैध रूप से कालोनिया काट चुके भूमाफियाओं में हड़कंप है।

विकास खंड मुख्यालय स्थित भाटखेड़ी बायपास पर नगर के भूमाफियों द्वारा शासन के नियम कायदों को ताक में रख कर महेश नगर के नाम से कालोनी का निर्माण किया जा रहा था। भूमाफियाओं द्वारा कोड़ियों में जमीन खरीदने के बाद नियमों के विपरीत कालोनी निर्माण के साथ करोड़ो में खेलने की साजिश रची गई। साजिश के तहत शासन को टैक्स के रूप में लाखों रुपए की चपत लगाई जा रही थी। अवैधानिक कृत्य प्रशासन के संज्ञान में आने पर कलेक्टर ने पुलिस को जाँच पश्चात अवैध कॉलोनाइजरों पर एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिये। जिस पर पुलिस थाना प्रभारी संदीप तोमर ने नगर परिषद मनासा से जानकारी सम्बधी दस्तावेज मंगवाकर मंगलवार को अवैध कृत्य करने के पांच आरोपियों पर प्रकरण दर्ज किया गया। पुलिस ने अवैध कॉलोनी काटने वाले हरिकृष्ण उर्फ महेश राठी, नवीन पिता भीमसेन दुआ, बलराम पिता बंकटलाल सोडानी , गोपाल पिता बंकटलाल सोडानी एवं संजय पिता रमेशचंद्र कासट के ऊपर म.प्र.नगर पालिका अधिनियम के अंतर्गत प्रकरण दर्ज कर लिया है। पाचो आरोपियों पर नगर पालिका अधिनियम की धारा 339 (ग) एवं धारा 15 (घ ) के तहत गैर जमानती प्रकरण दर्ज कर लिया गया।
एफआईआर होने के बाद मचा हडकंप – नगर मे अवैध कॉलोनी काटने वाले 5 भूमाफियाओ के खिलाफ पुलिस ने निकाय से जानकारी लेने के बाद गैर जमानती मे प्रकरण पंजिबद्व कर विवेचना प्रारंभ की है। एफआईआर होने के बाद नगर के सैकडो अवैध कॉलोनाईजरो मे हडकंप मच गया। वही महेश नगर मे भुखंड खरदीने वाले अपने आपको ठगा सा महसुस कर रहे है।

*पहली बार प्रशासन ने की भुमाफियाओ के खिलाफ कार्यवाही-* अभी तक नगरीय व ग्रामीण सीमा के चारो ओर कॉलोनीयो के नाम पर कृषि भुमि पर अवैध रूप से कई कॉलोनियां काटी गई। जिनकी शिकायते भी हुई थी पर प्रशासन द्वारा कोई प्रभावी कार्यवाही आज तक नही की गई। लेकिन पहली बार जिला प्रशासन ने अवैध कॉलोनी की शिकायत को गंभीरता से लेकर कार्यवाही की है। सुत्रो की माने तो नगर मे ऐसी ही कई अवैध कॉलोनीयां काटी गई है। जिनके खिलाफ कार्यवाही नही होना कही ना कही प्रशासन पर सवाल खडे करता है। पुर्व मे भी नगर के कई अवैध कॉलोनाईजरो के खिलाफ 2016 मे भी एसडीएम द्वारा नोटिस की कार्यवाही की गई थी। बावजुद आज तक उन पर क्या कार्यवाही की गई इसकी कोई जानकारी नही है।

बायपास की गाईड लाईन ज्यादा होेने से रजिस्ट्री मे लिखवाते अन्य जगह की चर्तुसीमा –
अवैध रूप से कॉलोनीयां काटने वाले कालोनाईजरो द्वारा जहां कॉलोनीयो के नाम पर लोगो को सब्जबाग दिखाकर लाखो मे भुखंड बेचे जाते है ।वही राजस्व की चोरी भी बडी चतुराई के साथ की जाती है। रजिस्ट्री के समय गाईड लाईन दुसरी जगह की बताकर स्टांप डयुटी की चोरी की जा रही थी। कुछ ऐसा ही काम महेश नगर मे भी किया जा रहा था। जहां पर भाटखेडी बायपास होने से यहां की गाईड लाईन अधिक है। रजिस्ट्री मे दुसरे स्थान की चर्तुसीमा लिखवाइ जा रही है

*थाना प्रभारी संदीप तोमर* ने बताया कि,कृषि भूमि पर अवैध कॉलोनी काटने वालो के खिलाफ गैर जमानती धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। प्रकरण की विवेचना में अन्य तथ्य सामने आने पर ओर भी धाराए बढ़ सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here