इतिहास: कोरोना वायरस के चलते सार्वजनिक रूप से नही होगी शुक्रवार दोपहर की नमाज

0
14

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए एकजुट हुए सभी नागरिकों के प्रयासों को ध्यान में रखकर इमाम काउंसिल नीमच ने भी जनहित में स्वैच्छिक रूप से शुक्रवार को जुम्मे की नमाज मस्जिद में सार्वजनिक नहीं करके अपने- अपने घरों में ही अदा करने की अपील की गई है इतिहास में यह पहली बार ऐसा होने में आ रहा है जब मुस्लिमजन नीमच की मस्जिदों में स्वैच्छा से जुम्मे की नमाज नही अदा करेगे।

उक्त जानकारी देते हुए मौलाना नियाज निजामी ने बताया की महामारी से निपटने के लिए एहतियात बरतना हम सबकी जिम्मेदारी है प्रशासन का साथ दें प्रशासन सभी भारतीय नागरिकों की सुरक्षा के लिए दिन रात लगा लगा हुआ है उनका हौसला अफजाई फरमाए तथा खुद के साथ दूसरों को भी सुरक्षित रखना है कल शुक्रवार को दोपहर की नमाज, जुम्मा के रोज मस्जिद तक आने की कोशिश ना करें सभी को अपने-अपने घरों में रहकर ही जोहर की नमाज अदा करें साथ ही नमाज पश्चात हमारे मुल्क में हर एक भारतीय नागरिक इस महामारी बिमारी से महफूज ( सुरक्षित ) रहे खुदा की बारगाह में दुआ करें। आगे उन्होंने बताया की वैसे तो जुम्मे की नमाज असल में मस्जिद में ही अदा होती है लेकिन वर्तमान इस समय मोजुदा हालात और इस महामारी को देखते हुए सभी नीमच के पेश इमामों ने देश हित में फैसला लिया है कि किसी भी मस्जिद में मुस्लिम भाई ना पहुंचे। मस्जिद में सिर्फ इमाम, नायब इमाम, मोजीन, यानी चार से पांच लोग जो मस्जिद में अनिवार्य रूप से रहते हैं इसलिए वह मस्जिद में नमाज अदा करेगे। लिहाजा नीमच जिला के सभी मुस्लिम भाइयों से अपील की जाती कि वह मस्जिद तक पहुंचने की कोशिश ना करें वरना प्रशासन सख्त कार्रवाई करेगा इसके जिम्मेदार आप खुद रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here