कमलनाथ का बड़ा बयान- कहा भाजपा वालों ये तो ट्रेलर है, अभी बहुत सारे खुलासे किए जाएंगे

0
493

भोपाल. हंगामे के बीच मध्यप्रदेश विधानसभा का सत्र अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है। विधानसभा स्थगित होने के बाद सीएम कमलनाथ ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि विपक्ष ने परंपराओं को तोड़ा है और सदन की प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया जा रहा। बीजेपी ने स्पीकर पद पर प्रत्याशी खड़ा कर सरकार को बहुमत साबित करने के लिए मजबूर किया है हमने सदन में बहुमत साबित कर अपना स्पीकर बनाया है। जब बीजेपी ने परंपराओं को तोड़ा तो सरकार ने भी डिप्टी उपाध्यक्ष के लिे हिना कांवरे को उतारने का फैसला कर लिया था। कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी ने विधायकों को खरीदने की कोशिश की है। कांग्रेस , समाजवादी पार्टी , बहुजन समाज पार्टी और निर्दलीय विधायकों को को भी फोन किए गए हैं। कमलनाथ ने विपक्ष के हंगामे पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी ये बात नहीं पचा पा रही है कि वो चुनाव हार गई है और विपक्ष में है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार प्रदेश में विकास का एक नया मॉडल बनाएगी। सरकार का मकसद सबका विकास करना है।
अभी बहुत खुलासे होंगे
कमलनाथ ने गुरुवार को मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा सरकार के शासन काल में किए गए घोटालों के खुलासे किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी बहुत सारे खुलासे किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मैं सबको साथ लेकर चलना चाहता हूं। उन्होंने कहा कि जो प्रक्रिया थी उसी प्रक्रिया में अध्यक्ष औऱ उपाध्यक्ष का चयन किया गया है। भाजपा को कोर्ट जाना है या जहां भी जाना है जाएं हमने प्रक्रिया का पालन किया है। उन्होंने कहा कि कर्जमाफी की बात नहीं करेंगे लेकिन यह तय है कि बीजेपी बहुत घबराई हुई है। उन्होंने कहा कि ये तो खुलासों का ट्रेलर है मैं भारतीय जनता पार्टी को बता दूं की अभी बहुत सारे खुलासा किए जाएंगे। ये तोडफोड़ और प्रलोभन देने की राजनीति पर ध्यान केन्द्रित किया है।

कृषि क्षेत्र में क्रांति लाना है
शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोलते हुए कमलनाथ ने कहा, भाजपा वाले हार पचा नहीं पा रहे हैं उन्हें अभी भी भरोसा नहीं हो रहा है कि हम विपक्ष में हैं और बहुत से हमारे लोग भी हैं जिन्हें ये विश्वास नहीं हो रहा है कि हम सत्ता पक्ष में हैं ।

धान की उपार्जन तिथि में वृद्धि
बता दें कि राज्य शासन ने धान उपार्जन की तिथियों में वृद्धि की है। यह वृद्धि प्रदेश के कुछ जिलों से प्राप्त माँग और अभी तक उपार्जन केन्द्रों पर धान की आवक को देखते हुए की गई है। यह निर्णय किसानों की सुगमता को देखते हुए किया गया है। अभी तक धान उपार्जन की अंतिम तिथि 15 जनवरी, 2019 थी। उपार्जन के तिथि बढ़ाने के बाद अब दमोह, बैतूल, पन्ना, सिंगरौली, मण्डला, अनूपपुर, सीधी, जबलपुर, उमरिया और सतना में 19 जनवरी तक और सिवनी, रीवा, बालाघाट तथा कटनी में 25 जनवरी तक किसानों से धान उपार्जित किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here