कांग्रेस और भाजपा में हो रही भितरघात से बड़े नेता परेशान

0
445

नीमच यहां कांग्रेस-भाजपा दोनों दलों में भीतर घात को लेकर बड़े नेताओं परेशानी बनी हुई है जहां एक और टिकट वितरण को लेकर हुई गड़बड़ियों के कारण कार्यकर्ता नाराज हैं वही एक दूसरे को निपटाने के लिए कमर कस ली है ऐसे में बात करें मनासा क्षेत्र की जहां बाहुबली के नाम से विख्यात उम्मीदवार भाजपा से चुनाव लड़ रहे हैं उनके चरचे आम हैं कि वह चुनाव किस तरह लड़ते हैं और उनको कौन लोग निपटा रहे हैं जहां भाजपा के मैदानी लोगों ने उम्मीदवार से दूरी बना ली है वही उम्मीदवार के कुछ लोग कांग्रेस प्रत्याशी को अंदरूनी सहयोग कर रहे हैं इसी के चलते जावद की बात करें तो वहां पर सकलेचा से नाराज लोगों ने भाजपा से दूरी बना ली है तो कांग्रेस से बागी होकर चुनाव लड़ रहे समंदर पटेल ने पूरी ताकत इस चुनाव में झोंक दी है उन्हें जनता का भरपूर आशीर्वाद मिल रहा है और भाजपा के लोग भी समंदर पटेल को अंदरुनी सहयोग दे रहे हैं ऐसे में पिछले वर्षों पूर्व यहां पर हुए एक विवाद में एक समुदाय विशेष के लोगों ने समुंदर पटेल को अपना समर्थन देने का मन बना लिया है वहीं कांग्रेस के उम्मीदवार राजकुमार अहीर को जनता अपना आशीर्वाद दे रही है और जीत के लिए दुआएं दे रही है ऐसे में राजकुमार अहीर को जावद क्षेत्र का जीतने वाला उम्मीदवार बताया जा रहा है बात करे नीमच की तो यहां कांग्रेस के पाटीदार को एक विशेष हाईटेक नेता का समर्थन प्राप्त नहीं कार्यालय पर अभी भी कांग्रेस के नेता एक नहीं हो पा रहे हैं और सतनारायण पटेल के जावद और रतनगढ़ के करीब 200 लोग कार्य कर रहे हैं जिससे नीमच के कांग्रेस जन ग्रुप बाजी का शिकार हो रहे हैं और उन्हें अपने ही कार्यालय में अपमानित होना पड़ रहा है इसी के चलते कल यहां राज बब्बर की हुई सभा में जाने के लिए रैली का इंतजाम किया गया था जिसमें प्रत्येक मोटरसाइकिल वालों को पेट्रोल और कुछ भेंट देकर रैली में जाने के लिए तैयार किया था परंतु यहां पर एक अजीब स्थिति देखने को मिली की मोटरसाइकिल चालक एक जेब में भाजपा का झंडा एवं दूसरी जेब में कांग्रेस का झंडा लगाकर कांग्रेस कार्यालय से पीले रंग की पेट्रोल की पर्ची ले गए वहीं दूसरी जेब से झंडा निकालकर भाजपा कार्यालय से पेट्रोल की पर्ची ले गए कुल मिलाकर शहरी क्षेत्र के एवं ग्रामीण क्षेत्र के मैनेजमेंट को लेकर मैदानी कांग्रेसियों में जबरदस्त रोष है जिसका विशेष कारण है बाहरी लोगों द्वारा जिला कांग्रेस की कमान संभालना अब बात करें भारतीय जनता पार्टी के तो यहां संगठन मंत्री ने सभी भाजपा कार्यकर्ताओं को एक जाजम पर बिठाकर हिदायत तक दे डाली कि अगर तुम्हारे वार्ड से भाजपा हारी तो तुम्हारे भविष्य के बारे में विचार कर लेना इसी को लेकर भाजपा के सारे नेता और कार्यकर्ता एक हो चले हैं अब देखना है 28 तारीख को किस की होगी जीत और किसकी होगी हार यह फैसला 11 दिसंबर को जिले की जनता करेगी अभी तो जनता ने मन बना लिया है कि उन्हें वोट किसे देना है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here