खटकेदार चाकू से लोगों को डराने वाले कों 01 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 1000रू. जुर्माना ।

0
402

नीमच। श्री नीरज मालवीय, अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी, नीमच द्वारा एक आरोपी को बिना लाईसेंस के खटकेदार चाकू अपने कब्जे में रखकर उससे आने-जाने वाले लोगों को डराने के आरोप का दोषी पाते हुए 01 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1,000रू. जुर्माने से दण्डित किया।
अभियोजन मिडिया सेल प्रभारी एडीपीओ रितेश कुमार सोमपुरा द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 22.01.2018 को रात्री के लगभग 09ः15 बजे बघाना थाना प्रभारी एस. आई. वी.डी. जोशी को मुखबीर सूचना मिली की हवाई पट्टी के पास, बघाना में एक व्यक्ति खटकेदार चाकू लेकर घुम रहा है और आने जाने वाले लोगों को डरा धमका रहा है। सूचना कि तस्दीक हेतु पुलिस बघाना मय फोर्स हवाई पट्टी के पास पहुॅची जहा पर देखा कि एक व्यक्ति खटकेदार चाकू लेकर आने-जाने वाले लोगों को डरा धमका रहा था, पुलिस द्वारा उसको पकड़ कर उससे चाकू जप्त कर चाकू के लाईसेंस के बारे में पुछा तो उसके पास लाईसेंस नहीं था। पुलिस द्वारा आरोपी से चाकू जप्त कर उसकों गिरफ्तार किया और थाना बघाना में उसके विरूद्व अपराध क्रंमाक 15/2008, धारा 25(1-बी)(बी) आयुध अधिनियम के अंतर्गत प्रकरण पंजीबद्व करके शेष विवेचना पूर्णकर चालान न्यायालय में पेश किया गया।
न्यायालय में विचारण के दौरान पुलिस फोर्स के सदस्यों सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान न्यायालय में कराकर अपराध को प्रमाणित कराया गया। दण्ड के प्रश्न पर अभियोजन की ओर से तर्क दिया कि आरोपी बिना लाईसेंस लोहे का खटकेदार चाकू लेकर आने-जाने वाले लोगों को डरा रहा था, जो कि आरोपी की अपराधीक प्रवृत्ति को दर्शाता है इसलिए उसे कठोर दण्ड से दण्डित किया जायें। अभियोजन के तर्को से सहमत होकर श्री नीरज मालवीय, अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी, नीमच द्वारा आरोपी आशिक पिता जमील अहमद मंसूरी, उम्र-28 वर्ष, निवासी-झण्डा गली, नारायनगढ़ जिला-मंदसौर को धारा 25 आयुध अधिनियम (बिना लाईसेंस हथियार रखना) में 01 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1,000रू. जुर्माना से दण्डित किया । न्यायालय में शासन की ओर से पैरवी श्रीमती निधि शर्मा, एडीपीओ द्वारा की गई ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here