गालियाँ देने पर मना करने पर मारपीट करने वाले दो आरोपियों को सजा एंव जुर्माना।

0
355

नीमच। श्री नीरज मालवीय, मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी, नीमच द्वारा एक महिला सहित दो आरोपियों को गालिया देने से मना करने पर फरियादी के साथ मारपीट करने के आरोप का दोषी पाकर न्यायालय उठने तक के कारावास एवं 1,000-1,000रू. जुर्माने से दण्डित किया।

अभियोजन मीडिया सेल प्रभारी एडीपीओ रितेश कुमार सोमपुरा द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि घटना लगभग 06 वर्ष पुरानी होकर दिनांक 11.03.2013 रात के 08ः30 बजे ग्राम सेमली चंद्रावत स्थित फरियादी सत्यनारायण के घर के पास की हैं। आरोपीगण गोटू व चम्पाबाई, फरियादी के घर के पास जोर-जोर से गालिया दे रहा था तो फरियादी ने गालिया देने से मना किया तो गोटू ने उसको पट्टे से मारा तथा आरोपिया चम्पाबाई ने पत्थर से मारा, तब कारूलाल और श्यामलाल ने बीच-बचाव किया। फरियादी ने घटना की रिपोर्ट पुलिस थाना नीमच केंट पर की, जिस पर से अपराध क्रमांक 139/2013, धारा 323/34 के अतर्गत पंजीबद्व कर विवेचना में लिया। पुलिस नीमच केंट द्वारा फरियादी का मेडिकल कराकर विवेचना उपरांत चालान न्यायालय में प्रस्तुत किया।

श्रीमती निधि शर्मा, ए.डी.पी.ओ. द्वारा अभियोजन पक्ष की ओर से न्यायालय में फरियादी, चश्मदीद सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान कराकर आरोपीगण द्वारा मारपीट किये जाने के अपराध को प्रमाणित कराया गया। श्री नीरज मालवीय, मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी, नीमच द्वारा आरोपीगण (1) गोटू पिता भैरूलाल गुर्जर, उम्र-45, (2) चम्पाबाई पति स्व. भारत गुर्जर, उम्र-34 वर्ष, दोनो निवासी-ग्राम सेमली चन्द्रावत, तहसील व जिला नीमच को धारा 323/34 भादवि (एकमत होकर मारपीट करना) में न्यायालय उठने तक के कारावास व 1,000-1,000रू. जुर्माने से दण्डित किया, तथा साथ ही आहत सत्यनारायण को 1,000रू. प्रतिकर प्रदान करने का आदेश भी दिया। न्यायालय में शासन की और से पैरवी श्रीमती निधि शर्मा, एडीपीओ द्वारा की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here