चौधरी परिवार पर हुआ वज्रपात नहीं रही कविता नंदकिशोर चौधरी

0
18

नीमच। जवाहर नगर निवासी नंदकिशोर चौधरी की धर्मपत्नी श्रीमती कविता चौधरी का कल 62 वर्ष में क़ोरोना से आकस्मिक निधन हो गया। वह हॉस्पिटल में उपचार रत थी। अचानक रात को उनकी तबीयत बिगड़ी उन्हें बचाने के सारे जतन किए मगर उन्हें बचाया नहीं जा सका। उनके तीनों पुत्र चंद्र प्रकाश चौधरी, दीपक चौधरी और प्रवीण चौधरी ने पूरी तल्लीनता से, पूरी भावना के साथ मां के प्राण बचाने के लिए हर संभव प्रयास किया। अन्य लोगों ने जो भी बन पड़ा उन्हें मदद दी। लेकिन अंतत उनके प्राण बचाए नहीं जा सके। उनके निधन की खबर जैसे ही मिली सब स्तब्ध रह गए। ख़ास करके उनके गाँव बोरदियाकलाँ में तो मानो लोगों पर वज्रपात हो गया। सत्य, निष्ठा और धर्म के पथ पर सदैव अग्रसर रहने वाली श्रीमती चौधरी के निधन एक समाज के साथ ही पूरे गांव के लिए अपूरणीय क्षति है। मंदिर में उनके भजनों की आवाज गूंजती रही है। यही कारण है कि आज उनकी कमी पूरे क्षेत्र में महसूस की जा रही है। श्रीमती चौधरी ज़िला कांग्रेस महामंत्री दीपक चौधरी की माताजी थी। श्रीमती चौधरी अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गई लेकिन आज उस परिवार में जो कमी हुई है उसको सहन करने की शक्ति प्रदान करें ऐसी सभी लोगों ने कामना करी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here