जिले के 43 मलेरिया संवेदनशील गांवों में बंटेगी मलेरिया ऑफ 200 औषधि

0
14

आयुष विभाग दो चरणों में लक्षित 30 हजार लोगों को देगा दवा की खुराक

नीमच। मप्र शासन आयुष विभाग मंत्रालय भोपाल के निर्देशानुसार एवम श्रीमान कलेक्टर महोदय नीमच की अध्यक्षता में “मलेरिया रोग नियंत्रण कार्यक्रम -2020” का संचालन किया जाना है,जिसमे होम्योपैथी औषधि “मलेरिया ऑफ-200″की छः खुराक खिलाई जानी है। दो चरणों में होने वाले इस कार्यक्रम का प्रथम चरण दिनांक 12 सितंबर से प्रारम्भ होकर 26 सितम्बर तक चलेगा।
उक्त जानकारी देते हुए जिला आयुष अधिकारी डॉ निधि गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया की आयुष विभाग द्वारा प्रदेश में वर्ष 2016 से 2020 तक मलेरिया प्रभावित जिलों में मलेरिया प्रतिरोधक होम्योपैथी औषधि मलेरिया ऑफ 200 दवा का सेवन कराया जाकर मलेरिया रोग नियंत्रण के प्रयास जारी हैं। मलेरिया रोग नियंत्रण की दिशा में होम्यो औषधि मलेरिया ऑफ 200 दवा के सकारात्मक और अच्छे परिणाम के दृष्टिगत कलेक्टर जीतेन्द्र सिंह राजे ने जिले के मलेरिया प्रभावित पूर्व चिन्हांकित गांवों में इस वर्ष भी मलेरिया ऑफ दवा के वितरण के निर्देश दिये हैं। स्वास्थ्य विभाग और महिला बाल विकास विभाग के सहयोग से सितम्बर में प्रथम चरण और अक्टूबर में द्वितीय चरण में मलेरिया ऑफ 200 दवा का वितरण कराया जा रहा है।   जिला आयुष अधिकारी डॉ निधि गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया की प्रतिवर्ष इसी तरह मलेरिया रोग नियंत्रण कार्यक्रम आयुष विभाग, मलेरिया विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग के सामंजस्य से मलेरिया ऑफ 200 का वितरण आयुष चिकित्सक, एमटीएस, आशा कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा डोर टू डोर जाकर कराया जाता है। इस कार्यक्रम में सफलता भी प्राप्त हुई है, जिसमें मलेरिया के केसेस में कमी पाई गई। शासन की मंशा के अनुसार प्रथम चरण की पहली खुराक 12 सितंबर 2020 शनिवार को दी गई व इसकी दूसरी खुराक 19 सितंबर 2020 को दी जाएगी। इसी प्रकार अक्टूबर माह में द्वितीय चरण के तहत प्रथम खुराक 15 अक्टूबर, द्वितीय खुराक 22 अक्टूबर और तीसरी खुराक 29 अक्टूबर को खिलाई जायेगी। जिले के मलेरिया संवेदनशील दो ब्लॉक डिकेन एवं मनासा के 43 गांव की लगभग 30,000 जनसंख्या को दो चरणों में होम्योपैथिक मलेरिया प्रतिरोधक ओषधि मलेरिया ऑफ 200 की खुराक पिलाई जाना है।
प्रथम चरण का शुभारंभ 12 सितंबर 2020 को आयुष विंग पंचकर्म नीमच में डॉ निधि गुप्ता जिला आयुष अधिकारी द्वारा रोगियों को मलेरिया रोग प्रतिरोधक ओषधि खिलाकर किया गया इस अवसर पर कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ विवेक शर्मा, सहायक नोडल अधिकारी श्री श्याम मालवीय तथा स्वास्थ्य केंद्र के कर्मचारी उपस्थित रहे। यह जानकारी देते हुए कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ विवेक शर्मा ने बताया कि मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया तथा वर्षा जनित अन्य बीमारियों से बचाव हेतु आयुर्वेदिक एवं होम्योपैथिक औषधि जिले के सभी 30 आयुष औषधालय में निशुल्क उपलब्ध है। जिला आयुष अधिकारी डॉ निधि गुप्ता ने जिले के समस्त नागरिकों से दवाई का अधिक से अधिक लाभ लेने की अपील की। अभियान अंतर्गत प्रत्येक व्यक्ति को औषधि की छह खुराक दी जाएगी। इसका वितरण स्वास्थ्य विभाग और महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है। जिला आयुष अधिकारी डॉ. निधि गुप्ता के मार्गदर्शन में मैदानी कर्मचारियों को आवश्यक प्रशिक्षण दिया गया है।

जिले के इन 30 औषधालयों में भी निःशुल्क उपलब्ध है दवा-
आयुष विंग सिविल अस्पताल नीमच, शासकीय आयुर्वेदिक औषधालय नीमच सिटी, शासकीय आयुर्वेदिक औषधालय बघाना, चीताखेड़ा, जमुनिया कला, बमोरा, हरवार, सावन, जावी, दारू, भरभड़िया, मनासा, पिपलिया जागीर, मालाखेड़ा,  चचोर, नलवा, कुंडला, आत्री, बैसला, आमद, ढाकनी, धामनिया, जनकपुर, आलोरी गरवाड़ा, अम्बा परलई, थड़ोद, कदवासा, दामोदरपुरा, सिंगोली, नयागांव।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here