तेंदुए के तीसरे शिकारी को नही मिली जमानत।

0
13

नीमच। श्रीमान विवेकानंद त्रिवेदी, मुख्य न्यायिक मजिस्टेªट, नीमच ने वन्य प्राणी तेंदुआ का शिकार करने वाले तीसरे आरोपी द्वारा प्रस्तुत जमानत आवेदन का अभियोजन द्वारा विरोध करने पर आरोपी को जेल भेजा।

अभियोजन मीडिया सेल को श्री जगदीश चैहान, डीपीओ नें जानकारी देते हुुए बताया कि घटना दिनांक 28.04.2020 की हैं। मुखबीर से सूचना प्राप्त हुई है कि लासुट डेम के पास नाले में नाहर(शेर) मरा पडा है। सूचना वन परिक्षेत्र अधिकारी महोदय जावद एवं परिक्षेत्र सहायक महोदय दडौली को दुरभाष पर दि गई। सूचना के आधार पर मय स्टाफ मौका स्थल पर उपस्थित हुए। मौका स्थल पर देखा की एक नर तेंदुआ मरा पड़ा हैं एवं मौके की कार्यवाही पूर्ण कि गई। अज्ञात आरोपीगण के विरूद्ध वन अपराध क्रमांक 3567/10, धारा 2, 9, 39, 51 तथा 52 वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम 1972के अंतर्गत पंजीबद्ध कर विवचेना में लिया गया। वन विभाग द्वारा आरोपी सुनील उर्फ कारू को गिरफ्तार किया गया। पूर्व मे भी आरोपीगण घनश्याम भील एवं चंदा बंजारा की ओर से प्रस्तुत जमानत आवेदन खारीज हो चूका है। गिरफ्तार किये गये आरोपी सुनील उर्फ कारू की ओर से न्यायालय में जमानत आवेदन प्रस्तुत किया गया, जिसका *श्री जगदीश चैहान डीपीओ* द्वारा वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विरोध किया गया। जिससे सहमत होकर *श्री विवेकानंद त्रिवेदी, मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी, नीमच* द्वारा आरोपी सुनील उर्फ कारू की ओर से प्रस्तुत जमानत आवेदन पत्र निरस्त कर जेल भेजा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here