दिव्यांग अध्यापकों ने 5 वर्षो से बकाया वेतन दिलाने की मांग का ज्ञापन सौंपा

0
169

नीमच । मंथन विकलांग स्कूल रामपुरा में कार्यरत दिव्यांग शिक्षकों ने मंगलवार 15 अक्टुबर को जिला कलेक्टर के नाम ज्ञापन प्रेषित कर 5 वर्षो से बकाया वेतन दिलाने की मांग की । ज्ञापन में बताया कि जिले के रामपुरा नगर में 2011 से 15 तक मंथन विकलांग संगठन स्कूल द्वारा मुकबधिर एवं दिव्यांग विद्र्याििायों के अध्यन के लिए एक विद्यालय संचालित किया जा रहा था तत्कालिन स्कूल, संचालक गणपत सुथार निवासी गिरदौड़ा द्वारा सामाजिक न्याय विभाग से अनुदान आने में देरी बताकर वेतन देने से इंनकार कर दिया और बाद में पुनः वेतन की मांग करने पर अपनी पुत्री एवं पत्नी द्वारा पुलिस में झुठी शिकातय द्वारा फंसाने की धमकी देकर वेतन नहीं देने की बात कही । वेतन के अभाव में दिव्यांग शिक्षकों को परिवार पालन पोषण में परेशानी आ रही है । प्राप्त जानकारीनुसार विद्यालय में 20 विद्यार्थी अध्ययनरत रहे थे । वेतन लेने घर जाने पर टालमटाल करते रहे । दिव्यांग शिक्षिका नफीसा डावल, संगीता चैधरी, बाबुलाल प्रजापति, दशरथ धनगर, चर्तुथ श्रेणी कर्मचारी लीलाबाई सभी का वेतन बकाया है वेतन मांगने पर झुठी पुलिस रिपोर्ट में फंसाने की धमकी देते है । 30 हजार रूपये का फर्नीचर भी इन्ही शिक्षकों से मंगाया था वह रूपये भी आज तक नहीं लौटाएं । भवन मालिक अनिल प्रजापति का 15 हजार रूपये किराया मासिक के हिसाब में 5 वर्ष का बकाया है वह भी नहीं दिया । जिला कलेक्टर से ज्ञापन के माध्यम से पुरे मामले की विधिवत कानुनी जांच कर दोषी के खिलाफ सख्त कानुनी कार्यवाही कर बकाया वेतन वापस दिलाया जाय जो गणपत सुथार के पास है जिसे उन्होंने स्वंय के मकान निर्माण में लगा दिया ऐसी धोखाधडी करने वाले विद्यालय संचालक गणपत सुथार के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की मांग भी की है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here