दूध डेयरी के लिए ली थी जमीन, बना दी दुकानें, नपा मौन कांग्रेस पार्षद महेंद्र मोनू लोक्स ने सीएमओ को दर्ज करवाई शिकायत, लीज नवीनीकरण पर भी रोक की मांग ।

0
571

नीमच। शहर के स्टेशन रोड पर करोडों की जमीन नगरपालिका ने दूध डेयरी के लिए दी थी, किन्तु यहां पर दुकानें बना दी गई। लीज समाप्त् हुए भी दो साल हो गए है। नगरपालिका इस मामले में मूकदर्शक बनी हुई है। करोडों की संपत्ति को नपा कब्जे में लेवे, वहीं अवैध तरीके से दुकान किराया वसूलने वाले पर भी कार्रवाई करें। नगरपालिका इन दिनों भू माफियाओं के संरक्षण और उनके हितों के लिए काम कर रही है। सीएमओ से लेकर जनप्रतिनिधि बडे—बडे जमीन घोटाले में लिप्त् है।

कांग्रेस पार्षद महेंद्र मोनू लोक्स ने जनहित में मामला उठाते हुए सीएमओ संजेश गुप्ता को दूध डेयरी के लिए आवंटित जमीन को लीज शर्तों के विपरीत उपयोग में लिए जाने के मामले में शिकायत दर्ज करवाई है। वर्ष 1985 में स्टेशन रोड पर दूध डेयरी स्थापित करने के लिए भूतपूर्व सैनिक पन्नालाल पाटीदार को करीब 13650 वर्गफीट जमीन 30 साल के लिए लीज पर दी गई थी। इसकी लीज 2015 में समाप्त् हो गई। तीस साल के दौरान लीज शर्तों का उल्लंघन करते हुए लीजधारी ने व्यवसायिक उपयोग करते हुए जमीन पर दुकानें बना दी। जबकि सिर्फ दूध डेयरी के लिए ही इस भूमि का उपयोग किया जाना था। डेयरी तो सिर्फ कागजों में ही रह गई। लीजधारी ने 23 जुलाई 2016 को लीज नवीनीकरण के लिए नपा में आवेदन दिया था। नगरपालिका के सीएमओ, राजस्व अधिकारी और शासकीय वकील ने स्पष्ट मत दिया था कि लीज शर्तों का उल्लंघन कर व्यवसायिक दुकानों का निर्माण कर लिया गया है। लीज को निरस्त कर जमीन को कब्जे में लेना चाहिए। इस दिशा में कार्रवाई करने की बजाय नपा के कुछेक  पार्षदों ने भू माफियाओं से सांठगांठ कर परिषद के सम्मेलन में बहुमत का फायदा उठाकर लीज नवीनीकरण के प्रस्ताव को पास करवा लिया गया।

श्री लोक्स ने बताया कि करोडों रूपए की जमीन की बंदरबाट शहर में भू माफिया कर रहे है और एक के खिलाफ भी नपा के सीएमओ कार्रवाई नहीं कर रहे है। जैसे की  डॉ ढिल्लन वाले भूखंड क्रमांक 1049 में हुआ। ठीक इसी तरह से दूध डेयरी के लिए आवंटित जमीन में हुआ है। इसमें फर्क इतना है कि  ढिल्लन वाला भूखंड अस्पताल के लिए दिया गया था और पन्नालाल को दूध डेयरी के लिए। इस मामले में नपा अगर कोई कार्रवाई नहीं करती है तो न्यायलय का दरवाजा खटखटाने  पर मजबूर होना पडेगा।

———

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here