दो बाड़ा जाती के युवकों ने दी थी चोरी और लुट की वारदात

0
176

नीमच। यह पर्दाफाश एसपी राकेश कुमार सगर और एएसपी राजीव कुमार मिश्रा ने किया। मंगलवार शाम करीब 4 बजे पुलिस कंट्रोल रूम पर एसपी और एएसपी मीडिया से रूमरू हुए। उन्होंने बताया कि मनासा टीआई संदीप तोमर और टीम ने हाड़ी पिपलिया डेरे के अमन उर्फ अयन पिता विजय मालवीय बांछड़ा ओर पिपलिया रुंडी के अजय उर्फ राजू बांछड़ा को गिरफ्तार किया। दोनों बदमाश काफी खातिर और आदतन अपराधी है। शुरुआती पूछताछ में अमन ने 5 लूट और चेन स्नैचिंग की वारदातों को अंजाम देना कबूला है। नीमच और हाई-वे पर पर उसने वारदातें की हैं, वहीं अजय बांछड़ा ने मनासा नगर और आसपास के गांवों में चार चोरी और नकबजनी की वारदातें करने की बात स्वीकारी है। पुलिस के अनुसार अमन उर्फ अयन ने 15 दिसंबर 2018 को विकास नगर नीमच में कोमलबाई कोठारी के गले से सोने की चेन खींचने, 21 मई 2019 को विकास नगर में ही शिक्षिका मंजूला धीर के गले से सोने की चेन लूटने की वारदात कबूली। इसके अलावा 6 अगस्त 2019 को भरभड़िया और जावद फंटे के बीच इंदौर जिले के कमलसिंह चंदेल व परिजनों के साथ लूटपाट करने की बात स्वीकारी। यह वारदात रापी गाड़कर अंजाम दी गई। पॉलीटेक्निक कॉलेज के पास मोरका रोड पर 20 जून 2019 को सविता पूर्बिया से मंगलसूत्र लूटने और 5 जून 2019 को मनासा कॉलेज के सामने अब्दुल करीम कु रैशी से मोबाइल फोन और नगदी छीनने की घटना को अंजाम दिया। वहीं अजय बांछड़ा ने 29 अप्रैल 2019 को विवेकानंद नगर मनासा के महेंद्रसिंह चंद्रावत के घर में घुसकर मारपीट कर चोरी करने, 16 सितंबर 2019 को मनासा के ढाबा संचालक कालूसिंह प्रजापत और पत्नी से मारपीट कर चोरी करने, 9 सितंबर 2019 को नलखेड़ा के सुरेशचंद्र शर्मा के घर से नगदी और जेवर चुराने की बात कबूली। 28 सितंबर 2019 को भी आरोपित ने मनासा के अक्षत नगर में प्रेमसिंह डिंडोर के घर में जेवर और 80 हजार रुपए चोरी करने का जुर्म कबूला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here