पर्यावरण को प्रदुषण से मुक्त करने में महिलाओं की जिम्मेदारी महत्वपूर्ण है

0
163

डॉ. माधुरी चौरसिया@ नीमच | पर्यावरण को प्रदुषण से मुक्त करने के लिए महिलाएँ अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करती है वे परिवार के सदस्यों को प्रशिक्षित कर सकती है पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचा सकती है. अब वक्त आ गया है जब हमें अपनी सांसों को बचाने के लिए पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाना है | उक्त विचार इनरव्हील क्लब नीमच द्वारा आयोजित विचार गोष्ठी में क्लब अध्यक्ष डॉ. माधुरी चौरसिया ने व्यक्त किये | इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष हेमांगिनी त्रिवेदी ने कहा महिलाएँ खरीदी करने जाए तो घर से कपड़े की थेलियाँ लेकर जाएं. कोषाध्यक्ष अल्का चड्ढा ने कहा आज कल डिस्पोजल बर्तनों में भोजन का प्रचलन बढ़ गया है जिसे रोका जाना चाहिए |
पूर्व अध्यक्ष ललिता मंडवारिया ने कहा कि घर में भोजन बनाने के लिए पीतल एवं लोहे के बर्तनों का इस्तेमाल करना चाहिए |संस्था सदस्य मधु दुआ ने वृक्षों के महत्व को बताते हुए कहा प्रत्येक महिला को वृक्षारोपण करना चाहिए |सदस्य सीमा अरोरा ने ओद्योगिकीकरण को पर्यावरण प्रदुषण का मुख्य कारण माना. वहीँ पूर्व अध्यक्ष संगीता गोयल ने सूखे कचरे गीले कचरों को अलग-अलग रखने पर जोर दिया | पूर्व अध्यक्ष श्रीमती अलका खंडेलवाल ने मटकों में जैविक खाद बनाने पर जोर दिया. सिंधु भागवानी ने माइक्रो वेव ओवन में प्लास्टिक बर्तन के इस्तेमाल को नाकारा | अनीता उपाध्याय ने वर्षा के पानी को एकत्रित करने पर जोर दिया |
क्लब एडिटर तृप्ति दुआ ने पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि असंतुलित पर्यावरण जीवन का नाश कर देता है | विनीता चौरड़िया ने सुझाव दिया कि महिलाएँ हफ्ते में एक दिन वाहन न चला कर पेट्रोल डीजल के धुंए से वातावरण को बचायें | उपाध्यक्ष नेहा गुप्ता ने प्रत्येक घर में तुलसी का पौधा लगाने पर जोर दिया |
कार्यक्रम के अंत में सचिव सरिता पाटीदार ने कहा पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए जल को संग्रहित करना चाहिए एवं बर्तनों को केमिकल से साफ़ नहीं करना चाहिए | इस अवसर पर अध्यक्ष डॉ. माधुरी चौरसिया ने सभी महिलाओं को पर्यावरण को प्रदुषण से बचाने के लिए सार्थक प्रयास करने की शपथ दिलवाई |कार्यक्रम का संचालन एडिटर तृप्ति दुआ ने किया एवं आभार सचिव सरिता पाटीदार ने माना |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here