भू माफिया राजेश अजमेरा के खिलाफ शिकायतों के बाद भी आखिर क्यों नहीं कार्रवाई कर रहा है प्रशासन —युवा गुर्जर महासभा के प्रदेश सचिव देवा गुर्जर ने  शातिर भू माफिया राजेश अजमेरा के कारनामों का चिठठा पेश किया

0
471

सीएम कमलनाथ के अभियान में 15 सालों से जमीनों की हेरा—फेरी, अवैध नामांतरण, सरकारी जमीन पर कच्चे कागजों में ही बेचने  भू माफिया  पर मेहरबान जिला प्रशासन, सीएम को शिकायत
नीमच। बीते सालों में पनपे माफियाओं के खिलाफ मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अभियान चला रखा है। यहां तक सीएम ने जिलाधीश महोदय— पुलिस अधीक्षक महोदय को कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र तक कर दिया है। लेकिन नीमच में सबसे बडे भू माफिया राजेश अजमेरा पर प्रशासन ने अभी तक कार्रवाई नहीं की है। जो वास्तव में भू माफिया है, उन्हें बचाने का प्रयास किया जा रहा है। एक दर्जनों शिकायतें भाजपा समर्थित तथाकथित राजेश अजमेरा के खिलाफ है, जो आईनें की तरह साफ है।
गुर्जर महासभा के प्रदेश सचिव देवा गुर्जर ने इस मामले की शिकायत सीएम, नगरीय प्रशासन मंत्री को की है, श्री गुर्जर ने कहा कि भू माफिया शातिर अजमेरा के कारनामों से नीमच की जनता से लेकर अधिकारी, व्यापारी सभी वाकिफ है। ये सिर्फ अवैध कारनामें करता आया है। शहर में गायत्री मंदिर के पास एवं एलआईसी चौराहे के पास बहुमंजिला ईमारतें एमओएस के उल्लंघन कर और दो भूखंडों को मिलाकर बनाई गई है, इसके अलावा नपा के सरकारी बगीचा क्रमांक 41, 46, 46 ए, एवं 47 में सिर्फ नोटरी के आधार पर लोगों को बेच दिए, करोडों की जमीन पर अवैध रूप से पंद्रह सालों में भूखंड काट दिए, नगरपालिका मूकदर्शक बनकर तमाशा देखती रही, जैसे ही सीएम कमलनाथ के आॅपरेशन भू माफिया प्रदेश में चला तो शहर की जनता को उम्मीद लगी कि सबसे बडे भू माफिया के खिलाफ अब कार्रवाई होगी, लेकिन इस शातिर और जमीनखोर भू माफिया पर एक सप्ताह बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है, जो कि संदेह के घेरे में है। पूर्व में कलेक्टर को भू माफिया के शहाबुददीन दरगाह रोड पर सरकारी बगीचे की जमीन पर  भूखंड बेचने, 70 हजार वर्गफीट सरकारी जमीन पर अवैध कब्जे, शहर में अवैध रूप से बनी दो बहुमंजिला ईमारतों, स्कीम नंबर 34—36 घोटाले में अवैध  पाए गए कई अवैध भूखंडों पर कब्जे, अरनिया कुमार में कृषि भूमि में अवैध रूप से बनाए गए व्यवसायिक गोदामों की शिकायत की गई थी। कलेक्टर ने तहसीलदार की अध्यक्षता में कमेटी भी गठित कर दी और कमेटी ने जांच भी पूर्ण कर ली गई,तमाम जांचों में भी रूपष्ट हो गया, आॅपरेशन भू माफिया के खिलाफ चल रहे अभियान में सांठगांठ कर अजमेरा को बचाया जा रहा है। इस अभियान में छोटे—छोटे लोगों पर कार्रवाई की जा रही है, असली भू माफिया सफेदपोश बनकर शहर में घूम रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here