मंदसौर जिले में छह किसानों की गोली मारकर हत्या के मुख्य गुनहगार टीआई को कांग्रेस शासन में पदोन्नत करना बेहद दुःखद, प्रदेश कांग्रेस महामंत्री जोकचन्द्र ने अपनी ही सरकार पर साधा निशाना

0
46

पिपलिया स्टेशन (निप्र)। किसान आंदोलन के दौरान छह किसानों को गोली मारकर मौत के घाट उतारने वाले टीआई अनिलसिंह ठाकुर को बर्खास्त करने के बजाए कांग्रेस शासन में पदोन्नत करना बेहद दुःखद है। भाजपा शासनकाल के दौरान 6 जून 2017 को मंदसौर जिले में हुए किसान आंदोलन को बढ़ावा देने में पिपलिया में पदस्थ रहने के दौरान अनिलसिंह ठाकुर ने ही अहम भूमिका निभाई थी व किसानों पर गोली चलवाई थी। जिसे तत्काल यहां से हटा दिया था। अपनी ही सरकार पर निशाना साधते हुए प्रदेश कांग्रेस महामंत्री श्यामलाल जोकचन्द्र ने बताया शनिवार को सोशल मीडिया पर भाजपा समर्थित कई लोग अनिलसिंह ठाकुर को डीएसपी पद पर पदोन्नत होने पर बधाई दे रहे है। इससे मृत किसान के परिवारों व संसदीय क्षेत्र के लाखों किसानों की भावनाएं आहत हुई। जोकचन्द्र ने बताया कांग्रेस के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसान आंदोलन के एक वर्ष बाद पिपलिया में आयोजित जनसभा के बीच कहा था कि जिन अधिकारियों ने किसानों पर गोलियां चलाई, उन्हें कतई बख्शा नही जाएगा, उन पर कठोर कार्रवाई होगी। किसान आंदोलन की बदोलत प्रदेश में कांग्रेस की सरकार तो बन गई, लेकिन इस मुद्दे पर कांग्रेस पार्टी ने अभी तक कोई कार्रवाई नही की। कुछ दिनों पूर्व तो किसानों के हत्यारे पुलिसकर्मियों को क्लीन चिट देने की खबर भी चर्चा में आई। जोकचन्द्र ने बताया यह किसानों का अपमान है, अगर किसानों पर गोलियां बरसाकर उन्हें मौत के घाट उतारने वाले टीआई पर कार्रवाई नही की जा सकती तो पदोन्नत करने का भी कोई अधिकार नही है। उन्होंने आगे यह भी बताया कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पीड़ित परिवारों व किसानों को काफी आस थी कि उन्हें न्याय मिलेगा, कांग्रेस सरकार निर्दोष किसानों की हत्या करने वाले पुलिस अधिकारी व पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करेगी, लेकिन दलालों की मिलभगत से किसानों की हत्या के मुख्य गुनहगार को ही प्रमोशन देना कहां तक उचित है ? कुछ माह पूर्व भी किसान आंदोलन के दौरान गोलीचालन का आदेश देने वाले एसडीएम श्रवण भंडारी को अतिरिक्त कलेक्टर बना दिया था, जिसका काफी विरोध हुआ था और सरकार को आदेश वापस लेना पड़ा। अगर एसा ही हुआ तो इसके कांग्रेस को गंभीर परिणाम भुगतना पड़ेेंगें। जोकचन्द्र ने आगे बताया कांग्रेस सरकार बनने के बाद आमजन को न्याय की आस जगी थी, लेकिन क्षेत्र में रेत माफिया, शराब माफियाओं की गुंडागर्दी चरम पर है और क्षेत्र में दलाल सक्रिय हो गए है, रोज ट्रांसफर के नाम पर अधिकारियों/कर्मचारियों से डरा-धमकाकर वसूलियां की जा रही है। साथ ही पार्टी में भी एसे लोगों को पदोन्नत किया जा रहा है जो भाजपा शासनकाल में सांठ-गांठ कर चल रहे थे, कांग्रेस के धरना, प्रदर्शन, भूख हड़ताल, चक्काजाम, घेराव व पदयात्राओं में दूर-दूर तक नजर नही व भाजपा जनप्रतिनिधियों की आवभगत में लगे हुए थे। एसे लोगों को पद, प्रतिष्ठा देकर पार्टी की छवि को धूमिल किया जा रहा है। जोकचन्द्र ने बताया किसान आंदोलन में सक्रिय रहे किसान नेताओं को टिकट देने के बजाए विधानसभा चुनाव में पार्टी ने माफियाओं व अपराधियों को टिकट दिए, इसके परिणाम स्वरुप कांग्रेस को बहुमत के लिए काफी प्रयास करना पड़ा। जोकचन्द्र ने आगे बताया किसानों आंदोलन के दौरान गोली मारकर हत्या के बाद जो कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता अपनी जान हथेली पर लेकर जिला अस्पताल पहंुचे उनकी पार्टी ने कोई पूछ-परख नही की। हमने तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान पर दबाव बनाकर मृत किसान के परिवारों को एक-एक करोड़ की राशि दिलवाने के लिए संघर्ष किया। वहीं घायल किसानों को पांच लाख रुपए देने की मांग को लेकर भी पिपलिया गांधी चैराहे पर अनिश्चितकालीन धरना दिया। कांग्रेस ने प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रशंसा करते हुए बताया कि कमलनाथ काफी अच्छे कार्य कर रहे है, जिससे आमजन में प्रसन्नाता है, लेकिन सरकार में कुछ भाजपा के दलाल घुस गए है, जो इस तरह के आदेश करवाकर सरकार को बदनाम करने में लगे हुए है, जिन्हें बेनकाब करना जरुरी है। जोकचन्द्र ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ, प्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चन व क्षेत्र के पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन को अवगत कराकर हत्यारे टीआई का प्रमोशन रद्द कर उसे बर्खास्त करने की मांग की है साथ ही भाजपा से सांठ-गांठ कर सरकार को कमजोर करने का प्रयास कर रहे दलालों को दूर करने की भी मांग की।
———

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here