मंदिर का दानपात्र चोरी करने वाले आरोपी की जमानत खारिज कर जेल भेजा ।

0
218

नीमच। श्रीमान सदाशिव दांगोडे, न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा मंदिर का दानपात्र चोरी करने वाले आरोपी द्वारा प्रस्तुत जमानत आवेदन खारिज कर जेल भेजा।

अभियोजन मीडिया सेल को एडीपीओ श्रीमती कीर्ति चाफेकर ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना दिनांक 15.11.2019 को मध्य रात की धनेरिया रोड़, स्थित दुर्गा माता मंदिर बघाना की हैं। मंदिर का पुजारी बाबुलाल शाम की आरती करके मंदिर में ताला लगाकर घर चला गया था, जब सुबह पुजारी मंदिर में पहुचा तो उसने देखा की मंदिर के मेन गेट का ताला टूटा हुआ हैं और दान पात्र भी नही हैं, कोई अज्ञात व्यक्ति मंदिर का ताला तोड़कर दानपात्र चुरा ले गया था। जिस पर से फरियादी द्वारा घटना की रिपोर्ट अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना बघाना में अपराध क्रमांक 285/19 धारा 457, 380 भादवि में पंजीबद्ध किया गया। पुलिस थाना बघाना ने विवेचना के दौरान पूछताछ व तहकीकात करके आरोपी भूरालाल को गिरफ्तार किया गया, इसके बाद आरोपी भूरालाल की ओर से न्यायालय में जमानत आवेदन प्रस्तुत किया गया।
श्रीमती कीर्ति चाफेकर, एडीपीओ द्वारा आरोपी की ओर से प्रस्तुत जमानत आवेदन का घोर विरोध करते हुए तर्क रखा कि आरोपी के विरूद्ध मारपीट, हत्या का प्रयास जैसे गंभीर अपराध पंजीबद्ध हैं तथा अभियुक्त ने भगवान के मंदिर से दानपत्र चुराया हैं। अभियुक्त एक आदतन अपराध है। अगर माननीय न्यायालय द्वारा जमानत स्वीकार की गई तो, आरोपी के होसले बुलंद होगे व आरोपी का अपराध के प्रति भय समाप्त हो जायेगा। जिससे आरोपी द्वारा प्रस्तुत जमानत आवेदन निरस्त किया जाना उचित प्रतित होता है। अभियोजन के तर्को से सहमत होकर श्रीमान सदाशिव दांगोडे, न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा आरोपी भूरालाल पिता शांतिलाल बावरी, उम्र-22 वर्ष, निवासी ग्राम धामनिया, थाना बघाना, जिला नीमच द्वारा प्रस्तुत जमानत आवेदन खारिज कर आरोपी को जेल भेजने का आदेश दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here