महात्मा गांधी महान चरित्र के धनी, उनकी नीतियां अनुकरणीय- कलेक्टर श्री गंगवार

0
153

ऐसी दुर्लभ चित्र प्रदर्शनी का आयोजन गांव गांव तक हो जिससे सभी लोग लाभान्वित हो सके- पुलिस अधीक्षक श्री सगर

चौधरी इंस्टिट्यूट पर हुआ तीन दिवसीय भारत को जानो, गांधी को पहचानो प्रदर्शनी का लोकार्पण।

नीमच। महात्मा गाँधी ने अहिंसावादी होकर नैतिकता के साथ अंग्रेजों से लोहा लिया और उनकी नैतिकता के सामने जब अंग्रेजों ने गलत कदम उठाए तो वे खुद अनैतिक हो गये इस प्रकार लोगों के बीच में महात्मा गांधी ने यह साबित कर दिया कि अंग्रेज सरकार कितनी अनैतिक है। महात्मा गांधी देश के लिए समर्पित व्यक्तित्व थे जिन्होंने कभी किसी अन्य नेता का विरोध नहीं किया अपनी सोच और शैली के विरोधी होने पर भी उनका स्नेह सुभाष चंद्र बोस के प्रति भी था। आज देश की जनता को यह जानना चाहिए कि किस तरह समाज में अपनी सहभागिता सुनिश्चित की जाए महात्मा गांधी का अनुकरण वर्तमान समय में भी प्रासंगिक है।

उक्त विचार नीमच जिला कलेक्टर श्री अजय सिंह गंगवार ने महात्मा गांधी की चित्र प्रदर्शनी के लोकार्पण पर प्रस्तुत किए। श्री गंगवार ने श्री जगदीश चन्द्र रामचंद्र चौधरी इंस्टिट्यूट इंदिरा नगर नीमच द्वारा आयोजित चित्र प्रदर्शनी की प्रशंसा की तथा दुर्लभ चित्रों की सराहना करते हुए इसके प्रचार-प्रसार पर जोर दिया।

जिला पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार जी सगर ने चित्र प्रदर्शनी की प्रासंगिकता को वर्तमान परिप्रेक्ष्य में अनिवार्य मानते हुए पूरे जिले भर में इसके प्रसार की बात कही। श्री सगर ने महात्मा गांधी के चरित्र पर प्रकाश डालते हुए उनके व्यक्तित्व को अनुकरणीय और वर्तमान समय में विद्यार्थी से लेकर समाज के सभी अंगों के लिए एक प्रेरणा स्रोत माना। उन्होंने कहा कि इनका अनुसरण व्यक्ति को महानता की ओर ले जाता है।

इस अवसर पर चौधरी इन्स्टिट्यूट के डायरेक्टर श्री अजय चौधरी ने बताया कि समाज को महात्मा गांधी से भली-भांति परिचित कराने के उद्देश्य से इस प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है, जिसमें महात्मा गांधी म्यूजियम न्यू दिल्ली से चित्र प्रदर्शनी मंगवाई गई। इसमें माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी की प्रेरणा एवं स्टडी इंस्टिट्यूट एसोसिएशन मध्य प्रदेश का सहयोग रहा।
इस अवसर पर नीमच स्टडी एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री उमेश जी शर्मा ने भी अपने विचार प्रस्तुत किए और कहा कि महात्मा गांधी छुआछूत और व्यक्ति विभेद से हमेशा से दूर रहे। वे सभी प्राणियों को एक ईश्वर की संतान मानते आए, उन्होंने मंदिरों में छुआछूत को बहुत गलत माना और स्वयं का प्रवेश भी तभी निश्चित किया जब मंदिर प्रबंधन ने छुआछूत ना करने की बात मानी।

इस प्रकार आज 2 अक्टूबर महात्मा गांधी जयंती की 150वीं वर्षगांठ पर जिले की महत्वपूर्ण शख्सियतों के साथ चित्र प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। यह प्रदर्शनी तीन दिवस तक चौधरी इंस्टिट्यूट इंदिरा नगर नीमच पर रहेगी। इसके पश्चात यह प्रदर्शनी पूरे नीमच जिले के सभी स्कूल और कॉलेजों में भी आयोजित की जाएगी।

भारत को जानो, गांधी को पहचानो चित्र प्रदर्शनी कार्यक्रम का प्रारंभ कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक द्वय के कर कमलों द्वारा फीता काटकर किया गया।

इसके पश्चात मां सरस्वती का पूजन अर्चन किया गया तथा स्वागत गीत एवं भाषण के पश्चात पधारे गए अतिथियों ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस अवसर पर विशेष अतिथि के रूप में सीईओ जिला पंचायत सुश्री भव्या मित्तल उपस्थित थे। कार्यक्रम के अंत में आभार संस्था के डायरेक्टर श्री अजय चौधरी ने माना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here