रात को सुने घर में घुसकर चोरी का प्रयास करने वाले आरोपी को 06 वर्ष का सश्रम कारावास ।

0
139

नीमच। श्री महेश कुमार त्रिपाठी, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा आरोपी को रात में सुने घर में घुसकर चोरी करने के प्रयास करने के आरोप का दोषी पाकर कुल 06 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1000रू. जुर्माने से दण्डित किया गया।

जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री आर. आर. चौधरी द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि घटना लगभग 13 वर्ष पुरानी होकर दिनांक 02 व 03 अगस्त 2006 के रात्री के समय की है। फरियादी किशनलाल का एक मकान बंगला नंबर 40 में हैं, जिसमें कोई नहीं रहता है। घटना दिनांक को रात्रि को उसके पड़ोसी अभिलाष जैन नें सूचना दी की उसके मकान मे कोई चोरी की नियत से घुस गया है। फिर फरियादी उसका लड़का मुकेश व संदीप तथा पड़ोसी ने घर के अंदर जाकर देखा कि सारा सामान बिखरा पड़ा था तथा एक व्यक्ति रसोई में छिपा मिला। जिसकों पकड़कर उन्होनें पुलिस नीमच केंट के हवाले किया जिसके विरूद्ध अपराध क्र्रमांक 364/06 अंतर्गत धारा 457, 380/511 भादस के अंतर्गत पंजीबद्ध कर शेष विवेचना उपरांत चालान नीमच न्यायालय में प्रस्तुत किया गया।

श्री आकाश यादव, एडीपीओ द्वारा फरियादी, चश्मदीद साक्षीयों सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान कराकर प्रमाणित कराया गया कि आरोपी चोरी की नियत से फरियादी के सुने घर में रात्रि के समय पीछे की छत से घुसा था, इसलिए उसे कठोर दण्ड से दण्डित किया जाए। श्री महेश कुमार त्रिपाठी, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा आरोपी आजम पिता इस्माईल, उम्र-30, निवासी-इन्द्रानगर, जिला नीमच को धारा 457 भादवि (अपराध करने की नियत से रात्रि को घर में घुसना) में 03 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 500रू. जुर्माना तथा धारा 380/511 भादवि (चोरी का प्रयत्न करना) में 03 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 500रू. जुर्माना, इस प्रकार आरोपी को कुल 06 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1000रू. जुर्माने से दण्डित किया गया। न्यायालय में शासन की ओर से पैरवी श्री आकाश यादव, एडीपीओं द्वारा की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here