रामपुरा की राजनीति मे सोनी बंधुओ मे छिडी पत्रो की जंग ! एक दुसरे के खिलाफ सोशल मिडिया पर लगा रहे आरोप!

0
503

मनासा। रामपुरा की भाजपाई राजनीति मे कुछ समय से भारी धमाल मची हुई है। यहां पर भाजपा के वर्तमान अध्यक्ष व पुर्व अध्यक्ष के बीच मे पत्रो की राजनीति उबाले ले रही है। एक दुसरे पर आरोप प्रत्यारोप सोशल मिडिया पर लगाए जा रहे है। जिसमे दोनो की ओर से घपले घायले करने तक की बाते लिखी जा रही है ! यही नही रूक रही पत्रो की लडाई बल्कि व्यक्तिगत आरोप भी लगाए जा रहे है। जिसको लेकर रामपुरा सहित क्षेत्र मे भारी चर्चा का विषय बना हुआ है।
पुर्व नगर पंचायत अध्यक्ष यशवंत करेल द्वारा वर्तमान नगर पंचायत अध्यक्ष गोविंद सोनी समर्थित नगर पंचायत पर भ्रष्टाचार सहित कई जनकल्याणकारी योजनाओ का लाभ पात्रहितग्राहीयो को नही देने की बजाय भाजपा की योजनाओ को पलीता लगाया जा रहा है। साथ ही विकास कार्यो की गुणवत्ता पर भी पुर्व अध्यक्ष द्वारा सवाल उठाए गए। इसको लेकर पुर्व नगर पंचायत अध्यक्ष यशवंत करेल ने वर्तमान परिषद के खिलाफ छटवां पत्र जारी किया है। वही अभी तक पुर्व अध्यक्ष के पत्रो पर चुप्पी साधे नगर पंचायत अध्यक्ष गोविंद सोनी ने भी बुधवार को सोशल मिडिया पर खुद के नाम पर एक पत्र जारी करते हुए पुर्व अध्यक्ष की भाजपा के प्रति निष्ठा पर सवाल उठाने के साथ ही पुर्व अध्यक्ष की मानसिक स्थिति ठीक नही होने की भी बात पत्र मे लिखी गई। नगर पंचायत अध्यक्ष गोविंद सोनी की चुप्पी टुटने से भाजपा मे बवाल मचा हुआ है। वर्तमान अध्यक्ष ने पुर्व अध्यक्ष पर सीधे तौर पर आरोप लगाए कि पुर्व अध्यक्ष द्वारा विकास कार्यो के मामले कोई प्रस्ताव नगर परिषद मे नही है। कई निर्माण कार्यो मे पुर्व अध्यक्ष खुद ठेकेदार है। कोई भी सुचना के अधिकार के तहतः आवेदन लगाए जानकारी देने को परिषद तैयार है! यही नही पुर्व अध्यक्ष पर यह भी भाजपा की पीठ मे छुर्रा भोकने की बात भी लिखी है। मामले मे बताया कि पुर्व नगर पंचायत अध्यक्ष ने रामुपरा बस स्टंेड की जमीन पर 40 दुकानो का निर्माण किया जिसमे टाउन एंड कंट्री व एमपीआरडीसी की परमिशन नही ली गई। इस प्रकार की दुकाने खाचरोद नगर पालिका ने भी बनाई थी। जिसमे शिकायत के बाद न्यायालय ने तोडने के आदेश दिए। रामुपरा की भाजपा मे छिडी सोनी बंध्ुाओ के बीच की इस राजनीति द्वंद्व से रामुपरा मे भाजपा को आने वाले विधानसभा चुनाव मे नुकसान उठाना पड सकता है ! जहां एक ओर भाजपा से जुडे हुए लोग ही एक दुसरे पर छिटाकशी कर रहे है। वही रामपुरा नगर पंचायत के कार्यो को लेकर कांग्रेस पुरी तरह से मौन वृत धारण किए हुए है । जिससे साफ तौर पर प्रतित होता है कि कांग्रेस का अािखर इनसे कोई सरोकार तो नही ! वही इस मामले मे नगर परिषद अध्यक्ष गोविंद सोनी का कहना है कि मैेनंे जो भी लिखा है वो सत्य है। ओर मैं भाजपा की पीठ मे छुर्रा घोपने वालो के दोहरे चरित्र को उजागर करूगा। तो वही इस मामले मे पुर्व नगर पंचायत अध्यक्ष यशवंत करेल नेे बताया की जनहित की योजनाओं का जनहितैषी योजनाओं का मखोल वर्तमान नगर परिषद द्वारा उड़ाया जा रहा है। जब सच्चाई जनता के सामने लाई जा रही है तो नगर परिषद अध्यक्ष बोखला गए है। भाजपा नही कहती है कि भ्र्ष्टाचार करो ,घटिया निर्माण करो , कमीशन खोरी करो , मेरे व मेरी पत्नी के कार्यकाल में हुए सभी कार्यो की जांच करा लें मैं तैयार हु। और वर्तमान अध्यक्ष भी अपने कार्यो की जांच करा लें । यशवंत करेल ने कहा कि सबसे ज्यादा घटिया निर्माण काम रामपुरा नगर परिषद ने किए है। शासन की सबल योजना में फर्जीवाड़ा हुआ, करीब ढाई हजार नामांतरण गलत तरीके से किए गए । जनता के हक की लड़ाई लगातार जारी रहेगी। वही रामपुरा भाजपा मंडल अध्यक्ष राकेश जैन का कहना है कि दोनों के आपसी विवाद की वास्तविकता से संगठन को अवगत करा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here