रेलवे कर्मचारी ने सेक्स चेंज कराया, लड़के से लड़की बना, उसके बाद जो हो रहा है वो चिढ़ पैदा करता है

0
199

35 साल का राजेश पांडेय नार्थ ईस्टर्न रेलवे में बतौर ग्रेड वन टेक्नीशियन काम करता है. 2017 में उसने अपना सेक्स चेंज ऑपरेशन करवाया था. अब वो सोनिया पांडेय के नाम से जानी जाती हैं. सेक्स चेंज करवाकर वो अब एक महिला बन चुकी हैं. पर सोनिया की दिक्कतें ख़त्म नहीं हुईं. दिक्कत है उसके आईडी प्रूफ में लिखा गया लिंग का कॉलम जो कि अभी भी उसे एक आदमी ही बताता है. इस वजह से सोनिया को नौकरी में काफ़ी परेशानी हो रही है. उसकी नई पहचान अब उसके लिए मुसीबत बन गई है.

अपनी आइडेंटिटी और बाकी डॉक्यूमेंट्स में बदलाव करने के लिए सोनिया ने एक अर्ज़ी भी लिखी. उस अर्ज़ी में सोनिया ने अपना नाम और सेक्स बदलने की बात कही. पर ये अर्ज़ी मिलते ही रेलवे के ऑफिशियल्स भी चक्कर खा गए. क्योंकि उनके डिपार्टमेंट में ऐसा पहली बार हुआ है.

सोनिया बरेली के इज्ज़तनगर वर्कशॉप में काम करती है. उसने अपनी अर्ज़ी वर्कशॉप के जनरल मैनेजर को भेजी. पर अर्ज़ी पर सुनवाई नहीं हुई. न ही आईडी में कोई बदलाव हुआ. थक-हारकर सोनिया को अपनी अर्ज़ी गोरखपुर के नॉर्थ ईस्टर्न रेलवे के जनरल मैनेजर को भेजनी पड़ी.

सोनिया नॉर्थ ईस्टर्न रेलवे के साथ 2003 से काम कर रही हैं. उनके पिता की मौत के बाद ये नौकरी उनको मिल गई थी. चार बहनों के वो अकेले भाई थे. सर्जरी से पहले राजेश (सोनिया) की शादी इज्ज़तनगर की एक महिला से हुई थी. पर ये शादी चली नहीं. दोनों का तलाक़ हो गया. वजह थी कि राजेश ख़ुद को एक पुरुष के तौर पर एक्सेप्ट नहीं कर पा रहे थे. वो ख़ुद को अंदर से एक महिला के रूप में ही देखते थे. इसलिए उन्होंने सेक्स चेंज ऑपरेशन करवाने का फ़ैसला लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here