रोड़ी के विवाद के कारण चाकू से हमला करने वाले बाप-बेटे को 3-3 माह का सश्रम कारावास।

0
151

नीमच। श्री नरेन्द्र कुमार भण्डारी, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा आरोपी बाप-बेटे को रोडी के विवाद के कारण एकमत होकर फरियादी पर चाकू से हमला कर चोट पहुॅचाने के आरोप का दोषी पाकर 3-3 माह के सश्रम कारावास एवं 500-500रू. जुर्माने से दण्डित किया।

श्री विपिन मण्डलोई, एडीपीओ द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि घटना लगभग 6 वर्ष पुरानी होकर दिनांक 25.08.2013 को सुबह के 7 बजे फरियादी गोपीलाल के ग्राम केलुखेड़ा स्थित बाड़े के सामने स्थित रोड़ी की हैं। फरियादी व आरोपीगण के मध्य पूर्व से रोड़ी का विवाद चल रहा हैं, जिस कारण जब घटना दिनांक को गोपीलाल बाड़े से कचरा फेंकने रोडी पर गया तो उसने देखा की आरोपी मुकेश उसकी रोडी से कांटे निकाल कर फेंक रहा था, जिसको ऐसा करने से मना किया तो मुकेश ने छोडे चाकू से फरियादी के साथ मारपीट कर चोटे पहुचाई, इतने में आरोपी मुकेश का पिता कंवरलाल जो कि रिश्ते में फरियादी का ताऊ भी लगता हैं, वह भी आ गया और दोनो बाप-बेटे ने गोपीलाल के साथ चाकू व लात-घूंसो से मारपीट की, जिस कारण फरियादी के चिल्लाने की आवाज सुनकर उसका भाई नवीन आया, जिसको आता देखकर दोनो बाप-बेटे वहां से चले गये। फरियादी ने घटना की रिपोर्ट पुलिस थाना बघाना में कि, जिस पर से आरोपीगण के विरूद्ध अपराध क्रमांक 238/13, धारा 324/34 भादवि के अंतर्गत दर्ज किया गया। पुलिस बघाना द्वारा विवेचना के दौरान फरियादी का मेडिकल कराकर, शेष आवश्यक विवेचना पूर्ण कर चालान नीमच न्यायालय में प्रस्तुत किया गया।

अभियोजन की ओर से श्री विपिन मण्डलोई, एडीपीओ द्वारा फरियादी, चश्मदीद सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान न्यायालय में कराकर आरोपीगण के विरूद्ध फरियादी के साथ चाकू से मारपीट किये जाने के अपराध को संदेह से परे प्रमाणित कराकर, दण्ड के प्रश्न पर तर्क रखा गया कि आरोपीगण चाकू से मारपीट कर फरियादी को चोटें पहुंचाई गई हैं, इसलिए उदाहरणस्वरूप आरोपीगण को कठोर दण्ड से दण्डित किया जाये। श्री नरेन्द्र कुमार भण्डारी, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, नीमच द्वारा भी आरोपीगण द्वारा किये गये अपराध को गुण्डागर्दी की श्रेणी का मानते हुए आरोपीगण (1) मुकेश पिता कंवरलाल पाटीदार, उम्र-32 वर्ष व (2) कंवरलाल पिता तुलसीराम पाटीदार, उम्र-62 वर्ष, दोनो निवासी-ग्राम केलूखेडा, थाना बघाना, जिला नीमच को धारा 324/24 भादवि में 3-3 माह के सश्रम कारावास व 500-500रू. जुर्माने से दण्डित किया। न्यायालय में शासन की ओर से पैरवी श्री विपिन मण्डलोई, एडीपीओ द्वारा की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here