लोधा समाज ने धूमधाम से मनाया भुजारिया पर्व, शहिद रानी अवंति बाई को किया नमन

0
209

नीमच। (आनन्द लोधा) 17/अगस्त। प्रतिवर्षनुसार इस वर्ष भी लोधा क्षत्रिय समाज बघाना द्वारा वीर अल्हा-उदल की याद में भुजारिया पर्व मनाया गया। ये पर्व प्रतिवर्षनुसार रक्षाबंधन के दूसरे िदन मनाया जाता है। लोधा समाज अध्यक्ष राधे लोधा व सचिव आनन्द लोधा ने बताया कि, भुजारिया का पर्व आपसी सदभाव ओर सोहाद्र का प्रतीक होकर पूर्वजों द्वारा युद्ध मे जीत की खुशी को दर्शाता है। ये जुलूस 16 अगस्त की दोपहर 4.00 बजे बघाना स्थित लोधा मोहल्ला से आरंभ होकर, पठारी , नयाबाजार, फतेह चोक, होलीचोक, सादड़ी रोड़ होते हुए पठारी मोहल्ला स्थित भैरव मंदिर पर भुजरिया ठंडी करने के बाद जुलूस देर रात समाप्त हुआ।
जुलूस के आरंभ में समाज के वरिष्ठजनों अध्यक्ष राधे लोधा, सचिव आनन्द लोधा, मुन्नालाल लोधा, कम्मि लोधा, लक्ष्मण सिंह लोधा, परमानन्द लोधा, राजमल लोधा, हरचरण लोधा, तुलसीराम लोधा, हुकमसिंह लोधा, शेरु अहीर आदि का माला पहनाकर व साफा बांधकर तिलक लगाया गया। आज ही अठारह सौ सत्तावन की प्रथम महिला स्वतंत्रता सेनानी, देश की आजादी में अपना अहम योगदान देकर अंग्रेजो से लोहा ले उनसे हार न मानने वाली रामगढ़ की रानी शहिद अवन्तिबाई लोधी की 188 वी जन्मजयंती का भी अवसर था जिन्हें लोधा समाज द्वारा श्रद्धा सुमन अर्पित किए जिनकी विशाल प्रतिमा विशेष रूप से सजे धजे रथ पर विराजित थी। जो जुलूस में आकर्षण का केंद्र रही।
इस अवसर पर भुजारिया जुलूस में समाजबंधुओं द्वारा अखाड़ा निकाला गया जिसमें समाज युवाओं द्वारा ढोल धमाकों द्वारा आकर्षक एवं जोशपूर्ण डांडियों से करतब दिखाए व वरिष्ठजनों द्वारा पारम्परिक लोकगीतों को गाया गया। जुलूस में समाज की कन्या व माताये अपने सिर पर परौने रखकर चल रही थी। जिन्हें जगह-जगह रखकर फेरे कर पारम्परिक गीत गाये गए। पदाधिकारियों ने समस्त समाजजनों भुजारिया जुलूस में शामिल होकर अपनी सामाजिक एकता का परिचय दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here