शिवराज सिंह चोहान पर कसा तंज । कहा मैं भजन कीर्तन करने नहि आया हूँ ।

0
172

नीमच । *सीएम ने कमलनाथ ने कहा— भारतीय जनता पार्टी के लोग कभी भजन मंडल, भजन कीर्तन,यहां पर नाटक कर रहे है, धरना तो कम है, गीत गाना, नाचना चलता रहा,केंद्र में इनकी सरकार है, दिल्ली जाएं और मांग करें, मध्यप्रदेश की जनता को दिखाए हम इतना पैसा लाएं है, प्रदेश सरकार किसानों और प्रदेश की जनता के साथ खडी है, केंद्र से पैसा मिले या नहीं मिले, हम राहत पहुंचाऐंगे जरूर*_

*नीमच। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री सोमवार को रामपुरा बाढग्रस्त इलाकों का मुआयना करना पहुंचे। यहां पर सीएम मीडिया से रूबरू हुए। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लोग क्षेत्र में नाटक कर रहे है। मुझे बडा दुख है। दिल्ली में इनकी सरकार है, वहां जाएं और पैसा लाएं,मध्यप्रदेश की जनता को बताएं कि हम इतना पैसा बाढ पीडितों के लिए लेकर आए है। रामपुरा की रिंगवाल डेमेज के मामले में उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच करेंगे। अभी तो हमें राहत पहुंचाना है। पूरे प्रदेश में सबक सिखना चाहिए। पिछले साल कहां कमियां रही है, यह हम देखेंगे।*
——
_*सीएम ने कही ये बडी बातें, हर नुकसान का मुआवजा देगी सरकार*_
*— पूरे प्रदेश में ऐतिहासिक बारिश हुई है, सबसे ज्यादा नुकसान किसानों को हुआ है। मकान, पशुओं, फसलों का नुकसान हुआ है, जांच करवाई जा रही है, सर्वे जारी है। मैं आश्वासन देना चाहता हूं कि प्रदेश के किसानों और प्रदेश की जनता को, प्रदेश सरकार उनके पीछे खडी है, हमें केंद्र से मदद मिले या नहीं मिले, हम नुकसानी की राशि उन्हें उपलब्ध करवाएंगे।*
*— राजस्व आरबीसी की धाराओं के तहत किसानों को बारिश से हुए नुकसान के रूप में तीस हजार रूपए प्रति हेक्टेयर का मुआवजा मिलेगा।*
*— केवल मदद की बात नहीं है। सरकार ने सीमित समय में उन्हें लाभ पहुंचाने का कदम भी उठाया है। पिछले 2016—17 में प्रदेश में सूखा पडा था। लोगों को छह—आठ माह बाद भी मदद नहीं मिल पाई थी। हमनें 15 अक्टूबर तक की टाईम लाइन तैयार की है, दो लाख रूपए तक का कर्जा किसानों का माफ होगा। प्रदेश में 54 हजार किसानों का फसल बीमा है। उन्हें कम समय में मुआवजा दिया जाएगा।*
*— जिनका राशन खराब हुआ है, उन्हें छह माह तक 50 किलो प्रतिमाह तक का आनाज उपलब्ध करवाई जाएगा।*
*— जिनके मकान ढह गए है या क्षतिग्रस्त हो गए है, उन्हें बनाने के लिए सरकार हर व्यक्ति को एक लाख रूपए देगी। अगर सरकार से बनवाना चाहते है तो डेढ लाख रूपए मिलेंगे।*
*— मवेशियों को हानि हुई है। मुआवजे के लिए पहले मवेशियों का पीएम जरूरी था, लेकिन हमनें से हटा दिया गया है।*
*— भेड, बकरियों के मुआवजे के लिए तीन हजार रूपए निर्धारित किए है।*
*— गाय—भैंस, उंट इत्यादि के लिए तीस हजार रूपए निर्धारित किए गए है।*
*— जिन किसानों का बारिश से बीज खराब हुआ है, जो अगली फसल के लिए उन्होंने रख रखा था, पूरा बीज भी हम उपलब्ध करवाऐंगे।*
*— बिजली के बिल भी भरने के लिए सरकार किसानों को पैसा देगी। सौ यूनिट से कम वाले बिल के लिए तीन सौ रूपए मिलेंगे वहीं दूसरी और सौ यूनिट से ज्यादा के बिल के लिए एक हजार रूपए की राशि दी जाएगी।*
*— अर्बन क्षेत्र में नुकसान हुआ है, उन्हें ढाई लाख रूपए देंगे।*
*— जरूरत पडे तो नई योजनाएं भी बनाएंगे। किसानों और प्रदेश की जनता को चिंता करने की जरूरत नहीं है।*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here