सिंधिया के ‘सड़क पर उतरेंगे’ बयान के पीछे प्रियंका की राज्यसभा सीट! पढ़ें इनसाइड स्टोरी

0
168

मध्यप्रदेश में सिंधिया और कमलनाथ में चल रहे वाक युद्ध को लेकर मामला गंभीर होता जा रहा है हाईकमान ने हस्तक्षेप नहीं किया तो गुटबाजी के कारण मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार जाने की संभावना हैमध्यप्रदेश कांग्रेस में गुटबाजी हावी
मध्यप्रदेश कांग्रेस में मुख्यत तीन गुट सक्रिय हैं जिसमें एक गुट का नेतृत्व मुख्यमंत्री कमलनाथ करते हैं, जबकि दूसरे का ज्योतिरादित्य सिंधिया। तीसरे गुट का नेतृत्व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह करते हैं। राज्य में अंदरुनी खींचतान इस कदर हावी है कि तीनों गुट एक दूसरे के खुले तौर पर भी विरोध करते दिख जाते हैं।

प्रियंका के बहाने कमलनाथ ने सिंधिया को दी मात!
मध्यप्रदेश से राज्यसभा के लिए खाली हो रही दो सीटों को लेकर जारी खींचतान के बीच एक सीट पर दिग्विजय सिंह की ताजपोशी तय मानी जा रही है। लोकसभा चुनाव हार चुके ज्योतिरादित्य भी मुख्यमंत्री पद न मिलने के बाद राज्यसभा के जरिए अपनी राजनीति को आगे बढ़ाने की कोशिश में लगे थे। लेकिन, कमलनाथ ने प्रियंका गांधी की राज्यसभा के लिए दावेदारी जताकर सिंधिया को घेरने का फुलप्रूफ प्लान तैयार कर रखा है।

दिग्विजय का जलवा बरकरार
कमलनाथ और सिंधिया गुट में आपसी खींचतान का सीधा फायदा पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को मिल रहा है। भोपाल से लोकसभा चुनाव हारने के बाद भी उनका राज्यसभा में जाना तय माना जा रहा है। दिग्विजय खुलकर मुख्यमंत्री कमलनाथ के समर्थन में हैं जिसका फायदा उन्हें भोपाल से लेकर दिल्ली तक मिल रहा है।

कांग्रेसप्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर भी विवाद
कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही यह कयास लगाए जा रहे थे कि वे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का पद छोड़ देंगे और सीएम के पद पर नंबर दो के दावेदार सिंधिया की ताजपोशी हो जाएगी। इसके अलावा सिंधिया गुट के विधायकों और नेताओं को सरकार-संगठन में बड़ा पद मिलने के आसार जताए जा रहे थे। लेकिन, कमलनाथ ने ऐसा होने नहीं दिया।

10 जनपथ नहीं दे पा रहा कोई समाधान
केंद्रीय नेतृत्व भी कमलनाथ और सिंधिया के बीच जारी खींचतान को खत्म नहीं कर सका है। जब भी राज्य में गुटबाजी तेज होती है तब सीएम कमलनाथ और सिंधिया को दिल्ली बुलाकर समझाया जाता है। हालांकि कुछ दिन बाद पार्टी में फिर कलह शुरू हो जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here