हनी ट्रैप में फंसा कर ब्लैकमेल कर 10 लाख रुपए की मांग एक महिला सहित दो गिरफ्तार शेष अभियुक्तों की पुलिस कर रही तलाश

0
280

चित्तौड़गंढ। थानाधिकारी बेगू वीरेंद्र सिंह ने बताया कि हलेड थाना सदर भीलवाड़ा निवासी नैना नायक पुत्री केशु नायक ने थाना बेगू पर 19 अगस्त को बेगू निवासी कन्हैयालाल ओढ़ के खिलाफ दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज करवाया था, जिसका अनुसंधान वृत्ताधिकारी बेगू ऋषिकेश मीणा द्वारा किया जा रहा था इसी दौरान प्रार्थीया नैना व अन्य अभियुक्तों ने प्रार्थीया द्वारा अपने बयान बदलने की एवज में कन्हैयालाल ओड़ से 10 लाख रुपये की मांग की व 1 लाख रुपये दिनांक 26 अगस्त को प्राप्त कर लिए थे। जिस पर कन्हैया लाल द्वारा दिनांक 28 अगस्त को थाना बेगू पर अपने भाई परमेश्वर भाभी सीताबाई, नैना नायक, गोपाल मेहर शिवलाल, कैलाश व रतन के विरुद्ध रुपए की मांग कर ब्लैकमेल करने का प्रकरण दर्ज कराया था। मामले में जांच ऋषिकेश मीणा द्वारा की गई तो पाया गया कि कन्हैया लाल के भाई परमेश्वर व भाभी सीताबाई के संपर्क में नैना नायक थी जिनके कहे अनुसार षड्यंत्र पूर्वक नैना नायक ने कन्हैयालाल से फोन पर संपर्क कर मीठी मीठी बातें कर अपने प्रेम जाल में फंसा कर जबरन संबंध बनाएं व इसके पश्चात कन्हैयालाल को ब्लैकमेल करने के लिए बेगू थाने पर दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज करा रुपए की मांग की तथा दिनांक 26 अगस्त को 1 लाख रुपये प्राप्त कर लिए व शेष 9 लाख रुपये दिनांक 28 अगस्त को देने को कहा, जिसके बदले में नैना नायक धारा 164 सीआरपीसी के बयान कन्हैयालाल के पक्ष में देने को तैयार हुई थी। वृत्ताधिकारी बेगू द्वारा पुलिस टीम गठित कर जाल बिछाया जाकर कन्हैयालाल से शेष 9 लाख रुपये प्राप्त कर अभियुक्तगण नारायण लाल पिता खेमराज कुमावत निवासी राजपुरा राजगढ़ थाना पारसोली को गिरफ्तार किया गया तथा अभियुक्त नारायण लाल से नैना नायक को रुपए प्राप्त हो जाने की फोन पर सूचना दी। जिस पर नैना ने धारा 164 सीआरपीसी के बयान कन्हैयालाल के पक्ष में दिए। षड्यंत्र में अभियुक्तगण बेगू निवासी सीताबाई, परमेश्वर ओड़, गोपाल मेहर, भीलवाड़ा निवासी शिवलाल, कैलाश व रतन, हलेड निवासी नैना नायक, राजपुरा निवासी नारायण लाल कुमावत शामिल थे। जिनमें से नारायण लाल कुमावत एवं नैना नायक को गिरफ्तार किया जा कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से नैना नायक को न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया व अभियुक्त नारायण लाल कुमावत का पीसी रिमांड प्राप्त किया जाकर शेष अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु प्रयास किए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here