37 क्विंटल डोडा चूरा मामले में जय उर्फ बाबू सिंधी की गठजोड़ SiT टीम कर रही जांच तीन साल में रोड़पति बन बैठा अरबपति हो सकता है बड़ा खुलासा

0
18

जय उर्फ बाबू सिंधी मामले में पाया जाता है। तो निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई होगी एसपी सुरज कुमार वर्मा

नीमच – 9 जुलाई को मुखबिर की सूचना पर पुलिस की दबिश के दौरान मनीष तिवारी के बड़े गोदाम भूखंड क्रमांक 18 व 19 में 37 क्विंटल अवैध डोडा चूरा सहित कई फर्जी नंबर प्लेट वाहन बरामद किए गए थें। सीटी थाना क्षेत्र अंतर्गत रहवासी इलाके में खुलेआम डोडाचूरा तस्कारी का खेल कई वर्षों से कुछेक पुलिस कार्मियों की मिलीभगत से चल रही थी। यहां सब का मालिक एक होता है। ऐसे में इनका आका ,,जय उर्फ बाबू सिंधी,, है।जो इस काले कारोबार को अंजाम दे रहा था। जैसे ही इसके काले साम्राज्य को किसी की नजर लगे तो बाबू सिंधी भूमिगत हो गया।कई बार एक पुलिसकार्मी जिसका तबादला जिले के बाहर हुआ है।वहां इसके काले शीशे की लग्जरी गाड़ी में घूमता हुआ अक्सर दिखाई दिया है। मनीष तिवारी के गोदाम में पुलिस की निष्पक्ष कार्रवाई होने के बाद बाबू सिंधी अब बड़े पैमाने के सेटलमेंट में कि तैयारी में लगा है। सूत्र बताते हैं कि ,,जय उर्फ बाबू सिंधी,, आज से कुछ वर्ष पहले रोड़पति की हालत में नीमच जिले में आया था। अचानक कुछ वर्षों के अंदर अरबपति बन बैठा है। अब सवाल यह उठता है, क्या कही बाबू के हाथ अलादीन का चिराग तो नही लग गया।जो आज बेसकिमती जमीनों प्रॉपर्टी का बादशाह बन बैठा है। इसके फार्म हाउस पर भी शराब शबाब के साथ पुलिसकार्मी से लेकर बड़े बड़े तस्कारों की पार्टी बनती है। मनीष तिवारी और बाबू सिंधी का गठजोड़ भी काफी चर्चाओं में है। बताया जा रहा है। की फरार मनीष तिवारी को बाबू सिंधी ने अपनी छत्र छाया में लिया हुआ है। क्योंकी ,,बाबू सिंधी,, कि कृपा पात्र आदेश से ही डोडाचूरा चूरा निकाला जाता था। इसमें कई वर्षों से युवा पीढ़ी भी पैसों की लालसा देकर जिंदगी खराब की है। इमानदारी एसपी सूरज कुमार वर्मा के निर्देशन पर एस आई टी टीम का गठन किया गया। जिसमें नगर पुलिस अधीक्षक राकेश मोहन शुक्ला के नेतृत्व में निरीक्षक के एल डांगी थाना प्रभारी मनासा, निरीक्षक योगेंद्र सिसोदिया थाना प्रभारी जीरन, निरीक्षक करणी शक्तावत थाना प्रभारी नीमच सिटी, उप निरीक्षक फतेह लाल आंजना थाना मनासा, उप निरीक्षक अभिषेक पाल साइबर सेल, एक टीम बनाई गई। जिसके बाद मनीष तिवारी के घर पर टीम ने दबिश दी जहां पर करोड़ों की डोडाचूरा तस्कारी लेखा जोखा, और उनके आका ,,जय,, का कोड डायरी में मिला है। जिसके बाद मनीष तिवारी की पुलिस ने तलाश शुरू कर दी। और,,जय,, नाम के कोड किस का है। काले कांच की लग्जरी कार कि भी बारीकी से जांच की जा रही है। ऐसे में अगर बाबू सिंधी इसमें आरोपी पाया जाता है तो कई बड़े खुलासे होने की संभावना है।

इनका कहना- हमारे द्वारा एक टीम गठित की गई है। 37 क्विंटल डोडा चूरा मामले में जांच कर रही है। अगर इसमें बाबू सिंधी कि गठजोड़ पाई जाती हैं तो निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई की जाएंगी…. एसपी सुरज कुमार वर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here