5 किलो 110 ग्राम अफीम परिवहन करने वाले दो आरोपियों को 10-10 साल का सश्रम कारावास एवं एक – एक लाख रुपये जुर्माना।

0
150

जावद। विशेष न्यायाधीश एन.डी.पी.एस. एक्ट जावद के विशेष न्यायाधीश नीतिराज सिंह सिसौदिया द्वारा 02 आरोपियो को कार से दो थैली अफीम रखकर परिवहन करने के आरोप में 10-10 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 01-01 लाख रू. से दण्डित किया है। जिला लोक अभियोजन अधिकारी आर. आर. चौधरी द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि जिला अफीम निवारक दल अधिकारी, जावद ने दिनांक 18.01.2015 को प्रातः करीब 09ः30 बजे निरीक्षक दल को गुप्त सूचना प्राप्त हुई कि एक मारूति कार क्रमांक आर.जे. 06 सी.ए. 6936 में आरोपीगण हेमराज तथा नाथूलाल अवैध अफीम का परिवहन कर रहे हैं, मुखबीर द्वारा बताये गये स्थान पर निवारक दल केसरपुरा नीमच चित्तौड़गढ़ रोड़़ पर पहुचे, जहॉ पर नीमच की ओर से सफेद रंग की मारूति अल्टो कार क्रमांक आर.जे. 06 सी.ए. 6936 आती दिखाई दी, जिसे रोका गया तो उक्त कार में आरोपी हेमराज तथा नाथूलाल बैठे हुए थे, दोनो आरोपीगण को मुखबीर सूचना से अवगत कराया व निवारक दल द्वारा आरोपीगण की तलाशी लेने पर उनके पास कोई अवैध वस्तु नही पायी गई तथा वाहन की तलाशी लेने पर चालक सीट के नीचे एक कपड़े की थैली मिली, जिसके अंदर प्लास्टिक की दो थैलिया रखी थी, उक्त थैलियो के अंदर काले भूरे रंग का लचिला पदार्थ रखा था जिसमें से अफीम की गंध आ रही थी, जिसे चखकर व सूघकर परीक्षण कर अफीम की पुष्टि की गई, निवारक दल द्वारा मौके पर उक्त थैली का वजन करने पर कुल 5 किलो 110 ग्राम पाया गया, उक्त अफीम को जप्त किया गया, आरोपीगण को गिरफ्तार किया गया, अनुसंधान उपरांत परिवाद पत्र न्यायालय में पेश किया। न्यायालय में उक्त आरोपीगण के विरूद्ध अपराध को प्रमाणित कराया गया, दण्ड के प्रश्न पर सी.बी.एन. के सीनीयर एडवोकेट सुशील ऐरन द्वारा आरोपीगण द्वारा वाणिज्यिक मात्रा से अधिक मादक पदार्थ होने से अपराध की गंभीरता को देखते हुए अधिकतम सजा दिये जाने का अनुरोध किया जिस पर विशेष न्यायाधीश एन.डी.पी.एस. एक्ट नीतिराज सिंह सिसौदिया, जावद द्वारा आरापीगण (1) हेमराज पिता जगन्नाथ धाकड़, उम्र-28 वर्ष, निवासी ग्राम परलई, तहसील सिंगौली, जिला नीमच को धारा 8/18(बी) सहपठित धारा 25 एन.डी.पी.एस. एक्ट 1985 के अंतर्गत 10 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 01 लाख रूपये के अर्थदण्ड तथा (2) नाथूलाल पिता देवीलाल धाकड़, उम्र-50 वर्ष, निवासी ग्राम जावदा नीमडी, तहसील रावतभाटा, जिला चित्तौड़गढ़ (राजस्थान) को धारा 8/18(बी) एन.डी.पी.एस. एक्ट 1985 के अंतर्गत 10 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 01 लाख रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया। न्यायालय में सी.बी.एन. का पक्ष सुशील ऐरन, विशेष लोक अभियोजक द्वारा रखा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here