7 किलोग्राम अफीम परिवहन एवं गबन करने वाले आरोपी को 21 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 02 लाख रू. का जुर्माना ।

0
496

नीमच। विशेष न्यायाधीश एन.डी.पी.एस. एक्ट नीमच के विशेष न्यायाधीश जसवंत सिंह यादव द्वारा एक आरोपी को अपनी मोटरसायकल पर अफीम रखकर परिवहन करने के आरोप में 21 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 02 लाख रू. से दण्डित किया है।
जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री आर. आर. चौधरी द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 25.01.2014 को गुलाबचंद्र गुप्ता उपनिरीक्षक नीमच को मुखबीर से सूचना प्राप्त हुई थी कि आरोपीगण संतोष और मोहन बंजारा, 7 किलोग्राम अफीम को अवैध रूप से पिपलियारावजी से भादवामाता मंदिर की ओर ले जा रहे है। जिसे हाईवे पर निगरानी रखकर पकड़ा जा सकता हैं इस सूचना को सी.बी.एन. में दर्ज किया और अपने वरिष्ठ आधिकारियों को सूचना भेजी गयी।
बाद श्री जी.बी गुप्ता एस.आई. ने मुखबीर की सूचना का पंचनामा बनाया और एक संयुक्त निवारक दल का गठन किया, जो भादवामाता मंदिर के यात्री प्रतीक्षालय के पास पहूॅचे साथ ही पंचान अजय मैहरा एवं मो.सादिक को कार्यवाही से अवगत कराया ओर मुखबीर द्वारा बताये गये व्यक्तियों का इंतजार किया जाने लगा, तभी पिपलियारावजी की तरफ से एक मोटरसायकल नं. एम.पी. 44 एम.एफ. 3421 पर दो व्यक्ति आते दिखें, इंशारे से रोका और उन्हें अपना परिचय देकर उनका नाम पता पूछा तो एक ने अपना नाम संतोष नागदा, पीछे बैठे व्यक्ति ने मोहन बंजारा नाम बताया, दोनों कीं बताया गया कि उन्हें अवैध मादक पदार्थ अफीम होने की सूचना मिली है। आपकी तलाशी लेना है इस पर दोंनो भड़क गये, गंदी गालियॉ दी व मारपीट पर उतारू हो गये इस बीच मोहन बंजारा ने अपने साथियों को बुलवाया व निवारक दल के सदस्यों पर लाठियां व डंडो से मारपीट करी, धक्का-मुक्की में मोहन बंजारा ने अपने कुर्ते के भीतर से एक थैले को वहीं फेंक दिया, उक्त थैलें को पंचों के समक्ष उठाया तब मोहन बंजारा व संतोष नागदा ने निवारक दल के सदस्यों को घायल कर फरार हो गये। मौके पर माहौल खराब होने से तथा पुनः आरोपीगण द्वारा मारपीट की संभावना को देखते हुए निवारक दल कार्यालय आ गये। मौके से लाए गए थैले को लाकर देखा तो उसमें दो पारदर्शी पॉलिथीन में काला भूरा लचीला पदार्थ मिला, वजन करने पर 3 किलोग्राम सैंपल निकालें, दूसरी थैली में 4 किलो 3ः50 ग्राम अफीम मिली। नियमानुसार कार्यवाही कर प्रकरण को विवेचना में लिया गया। मारपीट एवं शासकीय कार्य में बांधा उत्पन्न करने के संबंध में नीमच सिटी पुलिस ने आरोपी को गिरफतार किया। मामला पंजीबद्व कर परिवाद पत्र आरोपी संतोष नागदा के विरूद्व 8/18(बी) एन.डी.पी.एस. एक्ट के अंतर्गत पेश किया गया।
नारकोटिक्स नीमच के विशेष लोक अभियोजक सुशील ऐरन द्वारा आवश्यक साक्षियों के कथन कराएं, प्रकरण में आई साक्ष्य के आधार पर आरोपी संतोष नागदा को एन.डी.पी.एस. एक्ट के अंतर्गत दोषी ठहराया गया। आरोपी मोहन बंजारा द्वारा वाणिज्यिक मात्रा अफीम का परिवहन करने व निवारक दल पर हमला करने के फलस्वरूप धारा 8/18(बी) के लिए 11 वर्ष का सश्रम कारावास व 1 लाख रूपये जुर्माना, व 8/19 एन.डी.पी.एस. एक्ट के अंतर्गत 10 वर्ष का सश्रम कारावास व एक लाख रूपये जुर्माना, कुल 21 वर्ष का सश्रम कारावास व 2 लाख रूपये का जुर्माने की सजा से सजा से दण्डित किया गया। आरोपी मोहन बंजारा, रायसिंह व इंदरसिंह फरार है। प्रकरण में नारकोटिक्स विभाग की ओर से श्री सुशील ऐरन, द्वारा पैरवी की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here